Sai accepts Sindhu's demand for personal trainer and physio during the trip

    नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक में पदक की प्रबल दावेदार भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु ने शुक्रवार को स्वीकार किया कि उन्हें अनुकूल ड्रॉ मिला है लेकिन कहा कि ओलंपिक में कोई भी मैच आसान नहीं होगा। रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता गत चैम्पियन सिंधु को हांगकांग की चियुंग एंगान यि (34वीं रैंक) और इस्राइलकी सेनिया पोलिकारपोवा (58वीं रैंक) के साथ महिला एकल में ग्रुप जे में रखा गया है। 

    दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी सिंधु ने भारतीय बैडमिंटन संघ द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा,‘‘हर कोई शीर्ष फॉर्म में होगा। उम्मीद है कि मैं अच्छा प्रदर्शन कर सकूंगी। हर मैच अहम है तो मैच दर मैच रणनीति बनानी होगी। यह ओलंपिक है और इसमें कुछ भी आसान नहीं होगा।” पुरूष एकल में दुनिया के 15वें नंबर के खिलाड़ी बी साइ प्रणीत को ग्रुप डी में नीदरलैंड के मार्क कालजोउ (29वीं रैंक) और इस्राइल के मीशा जिल्बरमैन (47वीं रैंक) के साथ रखा गया है। प्रणीत ने कहा ,‘‘ ड्रॉ मिला जुला है। ना कठिन ना आसान। मुझे अपना सौ फीसदी देना होगा ताकि सारे मैच जीत सकूं।”

    दुनिया की दसवें नंबर की पुरूष युगल टीम चिराग शेट्टी और सात्विक साइराज रांकिरेड्डी को लीग चरण में कड़ी चुनौती मिल सकती है। उन्हें ग्रुप ए में दुनिया की नंबर एक टीम इंडोनेशिया के केविन एस सुकामुजो और मार्कस एफ गाइडोन के साथ रखा गया है। भारत के युगल कोच डेनमार्क के मथियास बो ने कहा,‘‘यह बराबरी का ग्रुप है और एक मैच हारने पर भी आप बाहर नहीं हो क्योंकि किसी को नहीं पता कि अगले मैच में क्या होगा।” एकल वर्ग में 42 खिलाड़ियों को 14 समूहों में बांटा गया है। हर समूह में तीन खिलाड़ी है और उससे शीर्ष खिलाड़ी नॉकआउट में पहुंचेगा। बैडमिंटन स्पर्धा 24 जुलाई से आरंभ होगी। (एजेंसी)