Karnataka Politics, CM Yed

    बेंगलुरु. भाजपा विधायक बासनगौड़ा पाटिल यतनाल (Basangouda Patil Yatnal) ने मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा (Chief minister of Karnataka B. S. Yediyurappa) के पुत्र एवं पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष बी वाई विजयेंद्र (B. Y. Vijayendra) की दिल्ली यात्रा (Delhi Visit) को लेकर मंगलवार को हमला बोला और आरोप लगाया कि वह “कर्नाटक में सरकार चला रहे हैं।”

    उल्लेखनीय है कि येदियुरप्पा और यतनाल के बीच कई मुद्दों पर लंबे समय से मतभेद रहे हैं। यतनाल ने कहा कि येदियुरप्पा को स्वयं दिल्ली जाना चाहिए था, न कि उनके पुत्र को क्योंकि सरकार से जुड़े मामलों में उनकी कोई भूमिका नहीं है। विजयेंद्र मंगलवार को दिल्ली के लिए रवाना हुए। यतनाल ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘इससे पता चलता है कि यह येदियुरप्पा की सरकार नहीं है, बल्कि विजयेंद्र की सरकार है। इसीलिए हम इस सरकार का विरोध करते हैं।”

    उन्होंने दावा किया कि केंद्रीय नेतृत्व ने बल्लारी क्षेत्र में जेएसडब्ल्यू समूह को जमीन बेचने के प्रस्ताव और कोविड-19 प्रबंधन सहित कुछ मुद्दों पर रिपोर्ट मांगी थी। यतनाल ने कहा, “हमारे आलाकमान ने 1.2 लाख रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से 3,666 एकड़ जमीन देने का गंभीर संज्ञान लिया है। इसके अलावा, केंद्र कोविड-19 प्रबंधन से जुड़े मुद्दे पर भी नाराज है।”

    जेएसडब्ल्यू समूह को जमीन बेचने का प्रस्ताव मंत्रिमंडल की हालिया बैठक के एजेंडे में था, लेकिन सरकार के भीतर और बाहर से विरोध के बाद इसे वापस ले लिया गया। विजयेंद्र एक महीने पहले राज्य के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई के साथ भी दिल्ली गए थे, जिससे कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर कयास लगाए जाने लगे थे। ऐसी अटकलें थीं कि भाजपा आलाकमान येदियुरप्पा की जगह बोम्मई को मुख्यमंत्री बनाना चाहता है क्योंकि वह सरकार की कार्यप्रणाली से प्रसन्न नहीं है। बोम्मई ने इन अटकलों को खारिज करते हुए कहा था कि यह सब अफवाह है।

    इस बीच, भाजपा सूत्रों ने कहा कि विजयेंद्र की दिल्ली यात्रा का राज्य की राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है और वह एक कार्यक्रम में शामिल होने गए हैं। भाजपा के एक नेता ने कहा कि विजयेंद्र एक कार्यक्रम में शामिल होने पारिवारिक यात्रा पर गए हैं। उनके साथ उनकी पत्नी और अन्य लोग हैं। (एजेंसी)