प्रकाश जावड़ेकर ने कहा- एआईएमआईएम के लिए वोटिंग का मतलब है विभाजन के लिए वोटिंग

हैदराबाद: हैदराबाद नगर निगम (Greater Hyderabad Muncipal Corporation) के चुनाव में भाजपा (BJP) और टीआरएस-एमआईएम (TRS-AIMIM) गठबंधन के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू है. रविवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Praksh Javadekar) ने ओवैसी (Asaduddin Owaisi) पर हमला बोला. उन्होंने कहा, “कांग्रेस और टीआरएस के लिए वोटिंग का मतलब एआईएमआईएम के लिए वोटिंग और एआईएमआईएम के लिए वोटिंग का मतलब है विभाजन के लिए वोटिंग.”

लोगों को MIM का मेयर चाहिए या भाजपा का

जावड़ेकर ने कहा, “डबक्का उपचुनाव में क्या हुआ, भाजपा इसे हैदराबाद में दोहराने जा रही है। हैदराबाद में इस सवाल पर चुनाव हो रहा है कि लोगों को MIM का मेयर चाहिए या भाजपा का. के.सी.आर. को वोट या कांग्रेस को वोट मतलब MIM को वोट, MIM को वोट यानि डिवीजन को वोट. इसलिए यहां के लोगों ने तय किया है कि यहां भाजपा का मेयर बनेगा.”

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “सीएम के. चंद्रशेखर राव और उनके दोस्तों की संपत्ति बढ़ रही है लेकिन तेलंगाना की संपत्ति घट रही है. बीजेपी एक ‘आरोप पात्र’ लेकर आई है, जिसमें पिछले 6 वर्षों के दौरान राज्य सरकार की 60 विफलताएं हैं.”

ओवैसी ने किया भाजपा पर पलटवार 

भाजपा के हमले AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया. उन्होंने कहा, “यदि आप रात में एक भाजपा नेता को जगाते हैं और उनसे कुछ नाम देने के लिए कहते हैं, तो वे सबसे पहले ओवैसी का नाम लेंगे, इसके बाद गद्दार, आतंकवाद और अंत में पाकिस्तान. बीजेपी को बताना चाहिए कि 2019 के बाद तेलंगाना, खासतौर पर हैदराबाद को उसने क्या वित्तीय मदद दी.”

ओवैसी ने कहा, “हैदराबाद बाढ़ की चपेट में आ गया. मोदी सरकार ने हैदराबाद को कौन सी वित्तीय सहायता प्रदान की? वे इसे (चुनाव) सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने उस समय कोई मदद नहीं की. यह यहां काम नहीं करेगा, लोग जानते हैं.”

ज्ञात हो कि ग्रेटर हैदराबाद नगर पालिका की 150 सीटों पर एक दिसंबर को चुनाव होने वाला है. इस चुनाव में भाजपा ने जीत के लिए अपना पूरा जोर लगा दिया है. हाल ही में हुए उपचुनाव में मिली जीत से भाजपा उत्साहित है. वहीं इस बार टीआरएस-एमआईएम मिलकर चुनाव लड़ रही है. 2016 के चुनाव में टीआरएस ने 99 सीटों पर जीत दर्ज की थी.