आर्मी कोविड हॉस्पिटल ने प्रदान किया अपना कोविड केयर सेंटर

  • आर्मर्ड फोर्सेज, पुलिस और सिविलियन को लाभ

पुणे. आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियो थोरैसिक साइंसेज (AICTS), पुणे जटिल इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी, कार्डियो-थोरेसिक सर्जरी, पल्मोनरी और रेडियोलॉजी और पैथोलॉजी के क्षेत्र में काम करने वाला राष्ट्र का एक प्रमुख संस्थान है. इस संस्थान की स्थापना 1942 में इंडो बर्मीज जनरल अस्पताल के रूप में की गई थी. 1946 में इसे सैन्य अस्पताल औंध का नाम दिया गया. यह अस्पताल 1972 में अपनी भूमिका में परिवर्तन के उपरांत अपने वर्तमान स्थान पर स्थानांतरित किया गया. इसमें यह सैन्य अस्पताल कार्डियो थोरैसिक केंद्र (सीटीसी) के रूप में नामित एक विशेष संस्थान बन गया.

20 फरवरी 2020 को, एमएचसीटीसी को आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियो थोरैसिक साइंसेज के रूप में नामांतरण कर अपने डोमेन विशेषज्ञता क्षेत्रों में अनुसंधान परियोजनाओं के लिए नियुक्त किया गया. मार्च 2020 में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के कारण, पुणे में सेना ने एक अलग कोविड-19 अस्पताल की आवश्यकता महसूस की ताकि बहु अनुशासनिक दक्षिणी कमान अस्पताल गैर कोरोना मरीजों का उपचार जारी रख सके और एईसीटीएस को 29 मार्च 2020 से एक कोविड केयर अस्पताल में परिवर्तित कर दिया गया.

400 बेड उपलब्ध

अस्पताल ने अपनी 600 बिस्तरों वाली सुविधा को 400 बेड वाले कोविड सुविधा में परिवर्तित किया, जिसमें 20 क्रिटिकल वेंटिलेटर बेड, 30 आईसीयू बेड और 350 आइसोलेशन बेड प्रदान किये. यह संस्थान न केवल पुणे और आसपास के क्षेत्रों के सशस्त्र बल के नागरिकों के लिए बल्कि सिविल कोविड-19 रोगियों के लिए वरदान साबित हो रहा है. एआईसीटीएस में पुणे जिले के कोविड-19 संक्रमित वर्दीधारी पुलिस कर्मियों की और नागरिक प्रशासन के निर्देशानुसार निर्देशित नागरिको की भी देखभाल की गई है.

अस्पताल का रिकवरी रेशो 81 प्रतिशत

संस्थान ने अब तक 1650 से अधिक कोविड-19(Covid-19) रोगियों को भर्ती किया है और 81% की रिकवरी दर के साथ 1333 से अधिक मामलों का निर्वहन किया है. इस दौरान 322 से अधिक असैनिक रोगियों को भर्ती किया गया, जिसमें 55 पुलिसकर्मी थे. इन सभी को महत्वपूर्ण देखभाल की आवश्यकता थी और इनका इलाज आईसीयू में किया गया. संस्थान ने आईसीयू देखभाल की आवश्यकता वाले 40 से अधिक पुणे कैंटोनमेंट जनरल अस्पताल के रोगियों की देखभाल करके उनकी मदद की. साथ ही इस संस्थान ने पुणे म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन के कोविड देखभाल केंद्रों से भेजे गए रोगियों में से सबसे बीमार लोगों का भी इलाज़ किया.

सभी दिशा-निर्देशों का हो रहा पालन

एआईसीटीएस कोविड सुविधा केंद्र में 90 हेल्थकेयर वर्कर, जिनमें डॉक्टर, नर्सिंग ऑफिसर, पैरा मेडिकल स्टाफ़, हाउस कीपर और सपोर्टिंग स्टाफ शामिल हैं, ने  निरंतर कार्य कर कोविड-19 मरीजों का इलाज और देखभाल की और आईसीएमआर के सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया. अस्पताल साथ ही साथ अपना आवश्यक कार्डियोलॉजी, कार्डियोथोरेसिक और इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी का काम भी कर रहा है. रोगियों ने सेना के कोरोना योद्धाओं को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन और स्वच्छता के उच्चस्तर और एआईसीटीएस में कोविड सुविधा केंद्र के बेहतरीन रख रखाव के लिए धन्यवाद दिया.