Workers not coming to work at the original place

पुणे/पिंपरी. महामारी कोरोना ने पुणे में हाहाकार मचा कर रखा है. पुणे में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 15 हजार के पार पहुंच गया है. अब तक 584 मरीज इस महामारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं. आम लोगों समेत पुणे महानगरपालिका के 108 कर्मचारी भी पॉजिटिव मिले हैं, इनमें से 44 सफाई कर्मचारी हैं. अब तक 10 कर्मचारियों की संक्रमण से मौत भी हो चुकी है. इसके बाद पुणे मनपा मुख्यालय की इमारत अब हॉटस्पॉट जोन बनती जा रही है.

बढ़ रही है लोगों की संख्या

कोरोना के संक्रमितों में कुछ नगरसेवक और उनके रिश्तेदार भी शामिल हैं. सरकारी दफ्तरों के खोलने के फैसले के बाद अब हर दिन के हिसाब से यहां लोगों की संख्या बढ़ रही है. ऐसे में अब लोगों में कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. पुणे मनपा में भी इसका संक्रमण फैल रहा है. हालांकि, कुल 108 संक्रमित कर्मचारियों में से 53 सफल उपचार के बाद कोरोना पर काबू पा चुके हैं. मगर शहर के अलग-अलग हॉस्पिटल में अभी भी 45 मरीज भर्ती हैं. ऐसे में मनपा मुख्यालय भी कोरोना का हॉटस्पॉट बन गया है.

पिंपरी-चिंचवड़ मनपा मुख्यालय में लोगों को नो एंट्री

पुणे जिले में भी कोरोना मरीजों की संख्या 15 हजार तक पहुंच गई है. यहां कोरोना के कारण अब तक 564 लोगों की मौत भी हो चुकी है. पुणे शहर से सटे पिंपरी चिंचवड़ शहर में भी कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1600 पार हो गया है. यहां शनिवार तक 1676 मरीज मिले हैं हालांकि उनमें से 1037 स्वस्थ होकर अस्पताल से घर लौट गए हैं. शहर में इस बीमारी ने अब तक 51 लोगों की जान ली है. पिंपरी चिंचवड़ मनपा के मुख्यालय में भी कोरोना की एंट्री हो चुकी है. यहां एक विभाग के कार्यालय में अधिकारी और कर्मचारी इसके संक्रमित पाए गए हैं. इसके चलते शनिवार से मनपा मुख्यालय में लोगों के लिए प्रवेश बंद किया गया है. जरूरी काम के लिए ई-मेल, व्हाट्सएप, फोन, मोबाइल जैसे जरियों का इस्तेमाल करने की अपील की गई है.