रचनात्मक कामों के लिए स्नातक चुनाव लड़ रही हूं

  • नीता ढमाले का प्रतिपादन

पिंपरी. स्नातक निर्वाचन क्षेत्र चुनाव में पुणे स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ रही नीता ढमाले ने चुनाव जीतने के लिए दृढ़ संकल्प व्यक्त किया है. बुधवार को आयोजित पत्रकार परिषद में ढमाले बोल रही थी. नीता ढमाले ने कहा कि स्नातक निर्वाचन क्षेत्र का चुनाव राजनीतिक दलों को मजबूत करने के लिए नहीं बल्कि स्नातकों के कल्याण के लिए है. इसलिए मैं स्नातकों के लिए रचनात्मक काम करने के लिए चुनाव के लढ़ रही हूं.

महिलाओं को राजनीतिक आरक्षण दिया जाना चाहिए, इस बात पर सभी राजनीतिक दल सिर्फ चर्चा करते है. वास्तव में, वे उम्मीदवारी देते समय इसके बारे में भूल जाते हैं. पिछले एक साल से स्नातक चुनाव की तैयारी कर रही हु. निस्वार्थ भाव से पार्टी के लिए काम किया है. हालांकि, ऐन मौकेपर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने उम्मीदवारी को खारिज कर दिया. स्नातकों के लिए रचनात्मक काम करने के लिए मैं एक सक्षम महिला विकल्प के रूप में चुनाव जीतने के लिए दृढ़ निश्चय कर चुकी हूं. उन्होंने आगे कहा कि, राज्य में बेरोजगारी अधिक है. यदि सरकारी योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू किया जाता है, तो यह इस पर उपाय होगा. लेकिन इसे नजरअंदाज कर दिया जाता है.

स्पर्धा परीक्षा देने वाले छात्रों की मानसिकता बदल गई है. परीक्षाएं आरक्षण की दुविधा में फंस गई हैं. महापोर्टल के माध्यम से परीक्षा लेने से छात्रों को नुकसान हुआ है. इसमें एक बड़ा घोटाला हुआ है और इसकी जांच होनी चाहिए. तीन साल से पुलिस में भर्ती होने का खोखले वादे किए जा रहे हैं. उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद उन्हें क्या मिलता है, यह बड़ा सवाल है. सरकारी क्षेत्र में ठेकेदारी चल रही है. इसे पर ध्यान देने की जरूरत है.

पुणे डिवीजन में, पिछले एक साल से सभी जिलों में प्रभावी काम हो रहा है. प्रचार का उचित नियोजना चल रही है और मतदाताओं तक पहुंचेनेवाले है. स्नातकों का विश्वास हासिल कर लिया गया है. उनके साथ नियमित संवाद जारी है, उनकी कठिनाइयों को समझ रहे है. इस समय, उन्होंने चुनाव अभियान की योजना के बारे में जानकारी दी.