पर्यटन केन्द्र बनाया जाएगा खडकवासला डैम

– 28 एकड क्षेत्र का होगा विकास

पुणे. खडकवासला डैम के पास खाली प्लॉट पर पर्यटन केंद्र बनाने की शुरूआत राज्य सरकार के स्तर पर हो गई है. यह सरकार का पायलट प्रोजेक्ट हो सकता है. निर्माण, इस्तेमाल और बीओटी की तर्ज पर इस प्लॉट का इस्तेमाल किया जा सकता है. इस संदर्भ में फिलहाल योजना पर काम चल रहा है. इसके मद्देनजर जलसंसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने खडकवासला डैम का दौरा किया था. 

जयंत पाटिल ने क्षेत्र का दौरा कर डैम परिसर कैसा है? प्रोजेक्ट के सफल होने के लिए स्थिति कैसी है? खाली प्लॉट कितना है? का जायजा लिया. इस दौरान उनके साथ एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विजय पाटिल, डिप्टी इंजीनियर वामन भालेराव, राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रदेश महासचिव आनंद मते उपस्थित थे.

जयंत पाटिल ने अधिकारियों के साथ बैठक की थी

इस संदर्भ में पिछले सप्ताह जलसंसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने अधिकारियों के साथ बैठक की थी. इसके बाद चीफ इंजीनियर राजेंद्र मोहिते, सुपरिटेंडेंट इंजीनियर संजीव चोपड़े, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विजय पाटिल ने क्षेत्र का दौरा कर प्लॉट का जायजा लिया था. इस मौके पर पिछले वर्ष बाढ़ पर सही तरह से नियंत्रण पाने में मदद करने वाले रिटायर्ड सिविल इंजीनियर डी.एम. भागवत की जयंत पाटिल ने प्रशंसा की.

 वॉटर स्पोर्ट्स शुरू करने पर विचार

जलसंसाधन विभाग के अधिकार क्षेत्र में आने वाले खडकवासला डैम परिसर में करीब 28 एकड़ जमीन खाली पड़ी है. प्राइवेट पार्टनरशिप करके यहां पर पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स और पर्यटन केंद्र शुरू किए जा सकते हैं. सरकार इस बात को समझने का प्रयास कर रही है कि पर्यटन की विभिन्न सेवा-सुविधाएं उपलब्ध कराने से राजस्व प्राप्त होगा क्या? इस पर चर्चा जारी है. इस संदर्भ में पिछले महीने से सीनियर अधिकारी डैम परिसर की खाली जगहों का निरीक्षण कर रहे हैं.