PMPML will make its land available for petrol pumps to increase income

    पिंपरी. अपनी आर्थिक स्थिति को संभालने और आय के अन्य स्रोतों को सक्षम बनाने में जुटे पीएमपीएमएल (पुणे महानगर परिवहन महामंडल लि.) के निदेशक मंडल ने एक बड़ा फैसला किया है। पीएमपीएमएल (PMPML) ने उसके इस्तेमाल में रही पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) द्वारा उपलब्ध कराई गई जमीनों को पेट्रोलियम कंपनियों (Petroleum companies) को देने का निर्णय लिया है। इससे बसों में ईंधन (Fuel) भरने और साथ ही पीएमपीएमएल के लिए आय उत्पन्न करने में भी मदद मिलेगी। 

    पेट्रोल पंपों के निर्माण के लिए पीएमपीएमएल अपनी जमीनें सरकार द्वारा अनुमोदित पेट्रोलियम संयंत्रों को उपलब्ध कराएगा। परिसर में डीजल, सीएनजी और इलेक्ट्रिक चार्ज की व्यवस्था के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। वर्तमान में पुणे महानगर परिवहन निगम (पीएमपी) के बेड़े में लगभग 2100 बसें हैं। इसके साथ ही भविष्य में काफिले में नई बसों को भी शामिल किया जाएगा। पिंपरी-चिंचवड़ में ऐसी 6 जमीनें पेट्रोलियम कंपनियों को उपलब्ध कराई जाएगी। इस बारे में एक प्रस्ताव स्थायी समिति के समक्ष पेश किया जा रहा है। यहां से मंजूरी मिलने के बाद यह प्रस्ताव सर्वसाधारण सभा में अंतिम मान्यता के लिए पेश किया जाएगा।

    और आठ भूखंड देना प्रस्तावित

    पिंपरी-चिंचवड़ मनपा की पीसीएमटी और पुणे मनपा की पीएमटी नामक पब्लिक ट्रांसपोर्ट कंपनियों का विलीनीकरण करने के बाद पुणे महानगर परिवहन महामंडल लि. यानी पीएमपीएमएल नामक कंपनी गठित की गई थी। तब पिंपरी-चिंचवड मनपा ने पीएमपीएमएल को छह भूखंड को हस्तांतरित किये थे और आठ भूखंड देना प्रस्तावित है। 8 दिसंबर 2020 को लिखे गए एक पत्र में पीएमपीएमएल ने कहा है कि पिंपरी-चिंचवड सीमा में उसके कब्जे में चार डिपो और आठ पार्किंग स्थल हैं। इनमें से तीन डिपो में डीजल, सीएनजी और एक डिपो में इलेक्ट्रिक चार्जिंग सिस्टम है। पीएमपीएमएल के राजस्व में वृद्धि को देखते हुए पीएमपीएमएल के उपयोग के अन्य स्थानों में डीजल, सीएनजी और इलेक्ट्रिक चार्जिंग प्रदान करना आवश्यक है। 

    निदेशक मंडल की बैठक में निर्णय 

    इस बारे में पीएमपीएमएल के निदेशक मंडल की बैठक में एक निर्णय लिया गया है। इसके अनुसार, पीएमपीएमएल के स्वामित्व वाली जमीनों पर रिटेल आउटलेट पंप स्थापित किए जाएंगे ताकि पीएमपीएमएल की बसों में ईंधन भरने की व्यवस्था की जा सके और इस तरह पीएमपीएमएल को वित्तीय आय हो सके। इन भूखंडों को पंपों के निर्माण के लिए सरकार द्वारा अनुमोदित पेट्रोलियम संयंत्रों को आवंटित किया जाएगा। इसके लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। तदनुसार पीएमपीएमएल द्वारा उपयोग किए जाने वाले स्थानों में डीजल, सीएनजी और इलेक्ट्रिक चार्जिंग की व्यवस्था के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा।