लॉकडाउन अवधि के दौरान बढ़े हुए बिजली बिलों को कम करें

  • शहर कांग्रेस ने MSEDCL को सौंपा ज्ञापन

पुणे. शहर में कोरोना का प्रकोप दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. इस अवधि के दौरान, आम जनता ने अपनी नौकरियां खो दी हैं और वे अकाल के समय का सामना कर रहे हैं. इसी तरह, इन नागरिकों को पिछले 5 महीनों से भारी मात्रा में बिजली बिल मिले हैं. ये नागरिक इन  बिजली बिलों का भुगतान करने में असमर्थ हैं. इसी समय, नागरिकों द्वारा बिजली के बिलों के भुगतान में देरी के मामले में, MSEDCL को मीटर नहीं काटने चाहिए. इसको लेकर शहर कांग्रेस द्वारा महाराष्ट्र राज्य बिजली बोर्ड के मुख्य अभियंता सचिन तालेवार को ज्ञापन सौपा है. इसमें में मांग की गई कि न्यूनतम बिल लगाया जाए और बिजली के बिलों के भुगतान की समय सीमा बढ़ाई जाए.

बोर्ड द्वारा दिया भरोसा

इस पर, सचिन तालेवार द्वारा कांग्रेस  से कहा कि हम इन बिलों पर गौर करेंगे. यदि हमें मीटर रीडिंग में फिर से कोई गड़बड़ी मिलती है, तो हम पूरे मीटर की भी जांच करेंगे, इसे सही करेंगे और नए बिल भेजेंगे. इस काम के लिए, हम अधिकारियों की प्रणाली को जल्द से जल्द लागू करेंगे. इसके बाद, शहर अध्यक्ष रमेश बागवे ने कहा कि यदि अति गरीब लोगों के बिजली बिलों को जल्द से जल्द ठीक नहीं किया जाता है, तो हम पुणे शहर जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से तीव्र आंदोलन करेंगे. इस अवसर पर शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष संगीता तिवारी, पार्षद मनीष आनंद, राजेंद्र शीरसाठ, विठ्ठल गायकवाड़, चेतन अग्रवाल, करन चड्डा, विजय जगताप, अरुण गायकवाड़ उपस्थित थे.