बढ़ सकता है समुद्र का जलस्तर

– इंडियन इंडस्टिट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेट्रोलॉजी का अनुमान

– तापमान में भी होगी 4.4 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी

पुणे. पुणे के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेट्रोलॉजी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि आने वाले समय में हमें गर्मी की और मार झेलने के लिए तैयार रहना चाहिए. संस्थान की रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक, देश के कई हिस्सों में गर्म हवा की लहर चार गुना तक बढ़ सकती है. इस रिपोर्ट में समुद्री जलस्तर एक फुट तक बढ़ने की आशंका जताई गई है. वहीं राजधानी दिल्ली में गर्मी का कहर अगले कुछ दिन यूं ही जारी रहने की बात कही गई है.

विनाशकारी तूफान के आसार

पुणे की इंडियन इंडस्टिट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेट्रोलॉजी की इस रिपोर्ट पर ध्यान दें तो इसमें कहा गया है कि सदी के अंत तक यानी साल 2099 के अंत तक तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस बढ़ने का अनुमान है. लू की लहर में 3 से 4 गुना ज्यादा इजाफा होगा. बार-बार विनाशकारी तूफान आने के आसार हैं. 

तापमान में फेरबदल होगा

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि समुद्री जलस्तर एक फीट तक बढ़ने की आशंका है. ग्रीन हाउस गैस इफेक्ट से मौसम में खतरनाक बदलाव होगा. भारत में क्लाइमेट चेंज पर सावधान करने वाली इस रिपोर्ट  में कहा गया है कि पिछले 30 साल में गर्म दिन, ठंडी रातों के तापमान में परिवर्तन हुआ है. गर्म दिन में 0.63 और ठंडी रात 0.4 डिग्री की बढ़ोत्तरी हुई है. इस रिपोर्ट में कहा गया है साल 2100 तक तापमान में भारी फेरबदल होगा.