अनलॉक के बावजूद बंद हैं सिनेमाघर, दर्शकों का उत्साह नहीं दिख रहा

पुणे. महामारी कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान सरकार ने पुणे और पिंपरी-चिंचवड़ समेत समस्त देशभर के मल्टीप्लेक्स और सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों को लंबे समय तक बंद रखा था.

कई महीनों तक थिएटर पर ताले लटके रहे और दर्शक एकदम नदारद दिखे.अब जब सरकार की तरफ से सिनेमा हॉल को खोलने के आदेश दिए गए हैं, लेकिन फिर भी दर्शकों का उत्साह बढ़ता नहीं दिख रहा है. लोग अभी भी सिनेमा घर से दूरी बनाए हुए हैं.यही वजह है कि पुणे और पिंपरी-चिंचवड़ शहरों में अभी भी मल्टीप्लेक्स और सिंगल स्क्रीन थिएटर बंद ही चल रहे हैं.

थिएटर खोलना नुकसान का सौदा

थिएटर मालिक औऱ प्रबंधन मानते हैं कि कोरोना काल में अभी थिएटर खोलने का कोई फायदा नहीं है. दर्शकों की तरफ से ज्यादा उत्साह नहीं दिखाया जा रहा है, ऐसे में थिएटर खोलना सिर्फ और सिर्फ नुकसान का सौदा दिख रहा है.लोगों का थिएटर न आना लाजिमी है क्योंकि सभी को कोरोना का डर सता रहा है. मल्टीप्लेक्स को भी अच्छा रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा है.ऐसे में आर्थिक दृष्टि से अभी सिनेमा हॉल खोलना ठीक नहीं है.वहीं दूसरे थिएटर मालिक भी इस समय ऐसी ही सोच रखते हैं. उनके मुताबिक इस मुश्किल समय में बिजनेस एकदम ठंडा पड़ चुका है, ऐसे में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए थिएटर को खोलना आसान नहीं है.

कोरोना वैक्सीन का इंतजार कर रहे मालिक

सभी थिएटर मालिक अभी कोरोना वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं.सभी को उम्मीद है कि इस समय में सरकार सभी थिएटर मालिकों के हित का ध्यान रखेगी. गौरतलब हो कि 4 नवंबर को महाराष्ट्र सरकार की तरफ से सिनेमा हॉल खोलने की इजाजत दी गई थी, लेकिन थिएटर में सिर्फ 50 फीसदी सिटिंग कैपेसिटी ही रखनी थी.ऐसे में थिएटर मालिकों के लिए ये पहले से ही एक नुकसान का सौदा था.उसके ऊपर सैनिटाइजर और दूसरी सावधानियां बरतने की वजह से खर्चा बढ़ रहा था.उसी में दर्शक अभी भी थियेटरों से दूरियां बनाए हुए हैं.इन्हीं अब बातों को ध्यान में रखते हुए पुणे और पिंपरी-चिंचवड़ शहरों में अभी भी मल्टीप्लेक्स और सिंगल स्क्रीन थिएटर को बंद रखा गया है.