HOSPITAL
File Photo

वाशिंगटन: कोविड-19 (Covid-19) के मरीजों के लिए अस्पताल (Hospital) से छुट्टी मिलने के डेढ़ सप्ताह तक बहुत जोखिम रहता है और मरीजों (Patients)

पराबैंगनी किरणों का उत्सर्जन करने वाले एलईडी बल्ब कोरोना को मार सकते हैं: वैज्ञानिक ~https://www.enavabharat.com/science-news-hindi/led-bulbs-emitting-ultraviolet-rays-may-kill-corona-scientist-226492/

शुरुआती दो महीने में अस्पताल से छुट्टी ले चुके कोविड-19 के नौ प्रतिशत मरीजों की मृत्यु हो गयी और करीब 20 प्रतिशत को फिर से अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। अध्ययन के लेखक और अमेरिका (America) के मिशिगन विश्वविद्यालय (Michigan University) में महामारी विशेषज्ञ जॉन पी डूनेली ने बताया, ‘‘गंभीर रूप से बीमार लोगों और कोविड-19 के मरीजों की तुलना करने पर हमें पहले से दूसरे सप्ताह में बड़ा जोखिम नजर आया। यह अवधि किसी भी मरीज के लिए खतरनाक होता है।”