archery

    तोक्यो. अतनु दास, प्रवीण जाधव और तरुणदीप रॉय की भारतीय पुरुष तीरंदाजी टीम तोक्यो ओलंपिक खेलों की टीम स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में सोमवार को यहां खिताब के प्रबल दावेदार कोरिया से 0-6 से हारकर बाहर हो गयी।

    जी हाँ आज टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics 2020) के तीरंदाजी (Archery) इवेंट में भारत की मेडल की उम्मीदों को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। भारत की पुरुष टीम क्ववार्टर फाइनल का मुकाबला हारकर अब बाहर हो गई है। क्वार्टर फाइनल में उसे कोरिया के तीरंदाजों के हाथों 6-0 की करारी शिकस्त झेलनी पड़ी। यानी, उनका एक भी तीर सटीक निशाने पर नहीं लगा। दूसरी ओर कोरिया वाले अपने परफेक्ट 10 से भारतीय तीरंदाजों के हौसले लगातार तोड़ते ही दिखे।

    इससे पहले आज भारत के अतानु दास (Atanu Das), प्रवीण जाधव (Pravin Jadhav) और तरूणदीप राय की तिकड़ी ने  प्री-क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान की मेंस टीम को 6-2 से हराते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की की थी।

    कोरिया के खिलाफ नहीं चली भारतीय तीरंदाजी :

    आज कोरिया के तीरंदाजों ने शुरू से ही इस जरुरी मैच में अपनी जो पकड़ बनाई, उसे ढीली भी नहीं होने दी। वैसे तो तीरंदाजी में हर राउंड 2-2 सेट के होते हैं। और उन्होंने हर सेट में अपना परचम लहराते हुए बेहतरीन तरीके से अंक बटोरे। कोरियाई तीरंदाजों ने तीन राउंड में कुल 18 तीर छोड़े, जिसमें 13 निशाने उनके परफेक्ट 10 पर लगे। दूसरी ओर भारतीय मेंस टीम की तिकड़ी का स्तर 8s और 9s वाला ही रहा। दोनों टीमों के बीच यही एक एक बड़ा फर्क रहा, जिसने भारत को हार की तरफ धकेल दिया। और इसी के साथ मेंस इवेंट में भारत की मेडल की रही सहीं उम्मीद को भी खत्म कर दिया है। भारतीय टीम ने इससे पहले कजाखस्तान को 6-2 से हराया था।