chanu

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी दी बधाई.
  • मीराबाई चानू ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय भारोत्तोलक.

नयी दिल्ली. अभी आ रही एक बड़ी खबर के अनुसार भारतीय भारोत्तोलक मीराबाई चानू (Meerabai Chanu) ने तोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) की 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक (Silver Medal) जीता है। जी हाँ आज मीराबाई चानू ने ओलंपिक के इतिहास में भारोत्तोलन में भारत का पहला रजत पदक जीतकर एक इतिहास रच दिया है। चानू ने यह पदक 49 किग्रा वर्ग में जीता।उनकी इस जीत पर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी उन्हें बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “तोक्यो ओलंपिक की इससे सुखद शुरुआत नहीं हो सकती थी, भारत भारोत्तोलन में मीरा बाई चानू के रजत पदक जीतने से बेहद खुश है।” 

आज इस 26 वर्षीय एथलीट ने स्नैच में 87 किग्रा और क्लीन एंड जर्क स्पर्धा में 115 किग्रा भार उठाकर 49 किग्रा वर्ग के फाइनल में भारतीय इतिहास रचने के लिए कुल 202 का स्कोर बनाया है। इसके साथ ही रजत पदक के साथ चानू ने 2020 टोक्यो ओलंपिक में भारत का पदक खाता भी खोल दिया है। उनके अलावा चीन के होउ झिहुई ने इस स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता, जबकि कांस्य पदक इंडोनेशिया की झोली में गया ।

इस तरह आज मीराबाई चानू ने ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में पदक का भारत का 21 साल का इंतजार खत्म किया और 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक जीतकर तोक्यो ओलंपिक में देश का खाता भी खोला । चानू ने क्लीन एवं जर्क में 115 किग्रा और स्नैच में 87 किग्रा से कुल 202 किग्रा वजन उठाकर रजत पदक अपने नाम किया।  इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी ने सिडनी ओलंपिक 2000 में देश को भारोत्तोलन में कांस्य पदक दिलाया था। 

पता हो कि चानू को इस साल ओलंपिक में भारत के सबसे मजबूत पदक दावेदारों में से एक के रूप में देखा गया था और खेलों में भी केउनका फॉर्म में अपने चरम पर है। उन्होंने इसी साल की शुरुआत में अपनी श्रेणी में 119 किग्रा भार उठाकर क्लीन एंड जर्क में भी एक विश्व रिकॉर्ड बनाया था।