Sale, storage and use of firecrackers banned in Delhi before Diwali, CM Kejriwal said - Dangerous situation of pollution
File

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शहर के सरकारी एलएनजेपी अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक की कोविड-19 से मौत पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि समाज ने ‘एक अमूल्य योद्धा खो दिया’ है। सरकारी अस्पताल के 52 वर्षीय चिकित्सक कोविड-19 महामारी के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर तैनात थे और रविवार को एक निजी अस्पताल के आईसीयू में उनकी मौत हो गई। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘ एलएनजेपी अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉक्टर असीम गुप्ता की कल मौत हो गई। वह किसी भी हद तक जा कर मरीजों का इलाज करने के लिए जाने जाते थे। हमने एक अमूल्य योद्धा को खो दिया। दिल्ली उनके जज्बे और कुर्बानी को सलाम करती है।”

मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में यह भी कहा कि उन्होंने डॉक्टर गुप्ता की पत्नी से बातचीत करके संवेदना प्रकट की है और सहायता की पेशकश की है। एलएनजेपी अस्पताल दिल्ली सरकार का समर्पित कोविड-19 केंद्र है। इसने कोविड-19 केंद्र घोषित होने के 100 दिन पूरे कर लिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस चुनौती भरे समय में एलएनजेपी अस्पताल ने शानदार जज्बा दिखाया है। यहां मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़ रही है और मृत्यु दर घट रही है। आईसीयू की क्षमता तेजी से बढ़ाई गई है और अस्पताल जिंदगियां बचा रहा है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि डॉक्टर गुप्ता को श्रद्धांजलि देने के लिए दोपहर एक बजे अस्पताल के चिकित्सा निदेशक कार्यालय में प्रार्थना सभा आयोजित होगी। एनेस्थीसियोलॉजिस्ट कंसल्टेंट डॉक्टर की मौत मैक्स अस्पताल में हुई। एलएनजेपी अस्पताल की तरफ से आए बयान में कहा गया है, ”वह एनेस्थीसिया विशेषज्ञ थे जो ड्यूटी करते समय संक्रमित हो गए थे। हल्के लक्षण मिलने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था जहां छह जून को उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई थी। हालत बिगड़ने पर उन्हें सात जून को एलएनजेपी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती किया गया।” आठ जून को उन्हें साकेत के मैक्स अस्पताल के आईसीयू में स्थानांतरित किया गया। बयान में बताया गया कि रविवार को उनकी मौत हो गई। (एजेंसी)