मनपा क्षेत्र में साफ सफाई का अभाव, स्वास्थ्य विभाग की बैठक में

    • मनपा आयुक्त द्विवेदी ने प्रकट की गहरी नाराजी

    अकोला. अकोला महानगरपालिका क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग को कर्मचारी तथा वाहनों को उपलब्ध करवाने के बावजूद सार्वजनिक स्थानों पर पाए जाने वाले कूड़े का उचित नियोजन न रहने से जगह जगह पर कूड़े के ढेर दिखाई दे रहे हैं, ऐसी शिकायत मनपा सदस्य और नागरिकों से प्राप्त होने से मनपा स्थायी समिति के सभागृह में मनपा आयुक्त कविता द्विवेदी ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक ली, जिसमें उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के प्रति नाराजी प्रकट की.

    बैठक में सबसे पहले स्वास्थ्य निरीक्षकों और उनके अधीनस्थ रहनेवाले सफाई कर्मचारी व अन्य कर्मचारियों की समीक्षा की गई. साथ ही अकोला मनपा क्षेत्र में प्रतिदिन एकत्रित होने वाले कूड़े का क्षेत्र अधिकारी एवं स्वास्थ्य निरीक्षक द्वारा उचित नियोजन किया जाए. साथ ही अपने कार्यक्षेत्र के अनुसार रूट मैप भी तैयार करें और संबंधित सफाईकर्मियों की जिम्मेदारी तय करें. 

    अतिरिक्त ठेका कर्मी प्रदान करें

    जिन क्षेत्रों में प्रशासनिक सफाईकर्मियों को नियुक्त किया गया है, वहां अतिरिक्त ठेका कर्मी प्रदान करके पूरी तरह साफ सफाई करें. प्रशासन द्वारा नायगांव डंपिंग ग्राउंड में कचरा संग्रहण की समस्या का समाधान कर दिया गया है. जिससे मनपा क्षेत्र में दैनिक सफाई कार्य के कारण निर्माण होनेवाला तथा सार्वजनिक स्थानों पर मिले कूड़ा-करकट को उठा कर नियोजित स्थान पर डालने के लिए प्रणाली को स्वास्थ्य निरीक्षक द्वारा प्रभावी ढंग से लागू किया जाये और क्षेत्र अधिकारी द्वारा नियंत्रित किया जाये तो मनपा प्रशासन जल्द ही कचरे की समस्या को पूरी तरह से सुलझाने में सफल होगा.

    इसके लिए ट्रैक्टर को प्रतिदिन कम से कम तीन चक्कर लगाने पड़ते हैं, यह स्वास्थ्य निरीक्षक की जिम्मेदारी मनपा आयुक्त द्वारा निर्धारित की गयी. वाहन खराब होने पर क्षेत्रीय अधिकारी को तत्काल मोटर वाहन विभाग के प्रमुख से समन्वय कर वाहनों की मरम्मत करनी चाहिए.

    आवश्यकता पड़ने पर जेसीबी का उपयोग

    शहर में स्वाच्छता कार्यों के लिए जहां जरूरी हो वहां ही जेसीबी का उपयोग करें. अनावश्यक स्थानों पर उपयोग करने से जलमार्ग टूट जाते हैं और नालों की स्थिति खराब हो जाती है. चूंकि सफाई कार्य यह एक टीम वर्क है, इसलिए सभी को मिलकर योजना बनानी चाहिए, त्योहारों के दिनों को ध्यान में रखते हुए, इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि अस्वच्छ परिस्थितियों के कारण नागरिकों को असुविधा न हो. साथ ही इस समय दिए गए निर्देशों का पालन अगली समीक्षा बैठक तक नहीं करने पर ऐसे कर्मचारियों पर नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी, यह चेतावनी भी इस समय मनपा आयुक्त कविता द्विवेदी ने दी.

    इस बैठक में मनपा उपायुक्त द्वय डा.पंकज जावले, पूनम कलंबे, स्वास्थ्य विभाग प्रमुख अनिल बिडवे, क्षेत्रीय अधिकारी विजय पारतवार, प्रशांत राजुरकर, विठ्ठल देवकते, देविदास निकालजे, जीतेंद्र तिवारी, मोटर वाहन विभाग प्रमुख श्याम बगेरे, जीआईएस विभाग प्रमुख चंदन प्रसाद सहित सभी स्वास्थ्य निरीक्षकों के साथ साथ मजदूर व वाहन आपूर्तिकर्ता उपस्थित थे.