Flood alert in Nashik district, life affected due to incessant rains

    • मनपा द्वारा युद्ध स्तर पर सफाई अभियान जरूरी

    अकोला. शहर में समुचित सफाई व्यवस्था न होने के कारण पहले ही अनेक क्षेत्रों में गंदगी दिखाई दे रही है. ऐसा नहीं है कि मनपा द्वारा सफाई नहीं की जा रही है. लेकिन जिस गति से और नियमित रूप से सफाई होनी चाहिए उस अनुसार सफाई नहीं की जा रही है. बड़ी मुश्किल से शहर में कोरोना पर नियंत्रण किया गया है. अब धीरे धीरे कोरोना की दूसरी लहर समाप्ति की ओर है.

    इस स्थिति में तो मनपा द्वारा सफाई अभियान की ओर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए. लेकिन देखा जा रहा है कि शायद मनपा सफाई अभियान में कहीं न कहीं कम पड़ रही है. शहर के विविध क्षेत्रों में, विविध बस्तियों में रहनेवाले लोग भरपूर हाउस टैक्स देते हैं. उसके बाद भी उन्हें साफ सफाई जैसी मूलभूत सुविधाएं यदि न मिलें तो निश्चित ही ऐसा कहा जा सकता है कि मनपा साफ सफाई में कम पड़ रही है.

    शहर के अनेक क्षेत्रों में सर्विस गलियों की जितनी अच्छी तरह से सफाई की जानी चाहिए, नहीं की जा रही है. चाहे अकोट रोड पर स्थित क्षेत्र या मंगरुलपीर रोड पर स्थित बस्तियां हों, डाबकी रोड या हरिहरपेठ रोड पर स्थित क्षेत्र हों, चाहे जठारपेठ क्षेत्र, उमरी रोड पर स्थित बस्तियां हों, कोई क्षेत्र ऐसा नहीं है जहां पर गंदगी की समस्या न हों. सभी जगह गंदगी देखी जा सकती है. गौरक्षण रोड और मलकापुर रोड पर स्थित अनेक बस्तियों में तो सर्विस गलियों में बड़े बड़े पेड़ पौधे उग आए हैं.

    ऐसा लगता है जैसे सर्विस गलियों ने जंगल का रूप धारण कर लिया है. कुछ क्षेत्रों में तो यह स्थिति है कि सर्विस गलियों का पानी बारिश के कारण लोगों के कंपाउंड तक पहुंचने लगा है. कई स्थानों पर बारिश का पानी भरा युद्ध स्तर पर साफ सफाई जरूरी एक तो पहले ही शहर में साफ सफाई का अभाव है. उस पर पिछले तीन दिनों हुई लगातार बारिश के कारण शहर की स्थिति और खराब हो गयी है. पुराना शहर में डाबकी रोड से लगकर स्थित अनेक बस्तियों में अभी भी बारिश का पानी भरा हुआ देखा जा सकता है.

    इसी के साथ साथ शहर की अनेक नई बस्तियों में कई जगह बड़े बड़े डबकों में पानी भरा हुआ देखा जा सकता है. यह परिस्थिति कई सड़कों के किनारे भी देखी जा सकती है. इस कारण से अब लोगों को सुविधा के साथ साथ तकलीफ भी होने लगी है. शहर की खराब स्थिति का सबसे बड़ा कारण यह है कि शहर में जो नई सड़कें बनाई गई हैं उन सड़कों से बारिश के पानी की निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है.

    इस कारण भी स्थिति खराब हुई है. इस परिस्थिति में जगह जगह पानी भरा होने के कारण मच्छरों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है. ऐसे समय मनपा का काम है कि कोई बीमारी न फैले इसके लिए युद्ध स्तर पर पूरे शहर में सफाई अभियान शुरू करना चाहिए. जिससे नियमित गंदगी तो साफ की ही जाए, इसी के साथ साथ जिन जिन क्षेत्रों में बारिश का पानी भरा हुआ है उस ओर भी सफाई अभियान चलाया जाए. मनपा का काम है कि शीघ्र इस ओर गंभीरता से ध्यान देते हुए लोगों को राहत प्रदान करें.