Before the elections in UP, the Uttar Pradesh Congress asked every potential candidate for Rs.11 thousand as cooperation amount
File Photo

    अमरावती. मुंबई के सहयाद्री गेस्ट हाउस में महाराष्ट्र राज्य प्रभारी एके पाटिल से दिव्यांग सेल के प्रदेश अध्यक्ष किशोर बोरकर ने मिले. बोरकर ने राज्य के कुछ हिस्सों में विधानसभा और लोकसभा क्षेत्रों में विगत कई वर्षों से पार्टी के पंजे का चिन्ह पर चुनाव नहीं लड़ा गया. इसलिए कई वर्षों से पार्टी के पंजे निशानी पर ही चुनाव लड़ा जाना चाहिए, ऐसा अनुरोध किया. 

    जिले में स्थिति मजबूत 

    जनता की समस्याओं के समाधान के लिए जमीनी स्तर पर काम करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को और जब पार्टी सत्ता में नहीं थी. तब पार्टी के लिए सक्रिय रूप से काम करने वालों को पार्टी संगठनों और बोर्ड में नियुक्त किया जाना चाहिए, ऐसी मांग भी बोरकर ने की. अमरावती महानगर पालिका, नगर पालिका चुनाव के दौरान कांग्रेस पार्टी की स्थिति मजबूत है. ऐसे में सभी कार्यकर्ताओं को साथ लेकर चुनाव की तैयारी करने को लेकर सुझाव दिया गया.

    विशेष बात यह है कि लोकसभा चुनाव में अभी तक पंजा चुनाव निशानी नहीं रहने पर नेता पाटिल ने भी आश्चर्य व्यक्त किया. आलाकमान को इस संदर्भ में जानकारी देकर पंजे पर ही लोकसभा का चुनाव लड़ने को लेकर भी आश्वस्त किया गया. राज्य के प्रत्येक क्षेत्र में भेंट देकर पार्टी के अंतिम कार्यकर्ता के साथ संवाद करने की बिनती भी बोरकर ने प्रदेश प्रभारी से की.