Economic growth of farmers with green vegetables

वरुड़. जरुरतमंद किसानों को सरकार द्वारा किसान सम्मान योजना के तहत 12 हजार रुपए प्रतिवर्ष की आर्थिक मदद दी जाती है,   लेकिन तहसील के आयकर दाता किसानों ने भी इस योजना का लाभ उठाया. ऐसे में  तहसील के 633 आयकर दाता किसानों को नोटिस भेजकर उनसे योजना की 56 लाख 70 हजार रुपए की  रकम वापस लेने की प्रक्रिया  तहसील प्रशासन ने शुरू की है. इनमें से 133 किसानों से 10 लाख 76 हजार रुपए की रकम वसूली गई है. 

न लौटाने वालों के सात बारह पर चढेगा बोझा

योजना के तहत सरकार द्वारा 2 हजार रुपए की 6 किश्तों के हिसाब से यह राशि किसानों के खातों में डाली जाती है. किसान सम्मान योजना  के तहत आयकर दाता किसानों द्वारा भी यह राशि लिए जाने की बात जांच में उजागर हुई. जिसके बाद  शासन उनसे यह राशि वसूल आरंभ की है.  यदि योजना का दुरुपयोग करने वाले आयकर दाता  किसान  राशि लौटाने में आनाकानी करते है तो उनके सात बारह पर बोझा बढाया जाएगा. 

आयकर अदा करने वालों से वसूली

आयकर दाता किसानों ने भी किसान सम्मान योजना का लाभ उठाया. ऐसे किसानों से योजना की राशि वापस लेने के लिए हमने नोटिस दी है. 133 किसानों से 10 लाख 76 हजार रुपए वसूले गए हैं अन्य आयकरदाताओं से राशि वसूली जाएगी. -किशोर गावंडे, तहसीलदार