लखीमपुर घटना के निषेध में आज ‘बंद’, मविआ के आंदोलन को कई पार्टियों-संगठनों का समर्थन

    अमरावती. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के बेटे ने विरोध कर रहे किसानों के एक समूह को कुचल दिया. इस घटना के विरोध में, महाविकास आघाड़ी के घटक दलों ने सोमवार 11 अक्टूबर को महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया है. बंद को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, किसान सभा सहित अन्य दलों और संगठनों ने समर्थन देकर बंद में शामिल होने की अपील की है. 

    उर्जा भवन में हुई बैठक 

    महाराष्ट्र बंद के मद्देनजर शहर को बंद करने की तैयारी के लिए महाविकास अघाड़ी की कांग्रेस पार्टी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, शिवसेना के साथ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, आम आदमी पार्टी, अभा किसान संघर्ष समन्वय समिति, आयटक, सीटू के पदाधिकारियों और अमरावती जिला ट्रेड यूनियन परिषद के पदाधिकारियों की बैठक शनिवार को ऊर्जा भवन में हुई. 

    सुबह 10 बजे रैली

    आंदोलन के तहत सुबह 10 बजे राजकमल चौक से रैली का आयोजन किया गया है.  बैठक में मनपा विपक्ष नेता, बबलू शेखावत, शिवसेना जिला प्रमुख सुनील खराटे, विलास इंगोले, अशोक सोनारकर, महेश देशमुख, डा. रोशन अर्डक, सुभाष पांडे, डीएस पवार, जेएम कोठारी, चंद्रकांत बानुबाकोडे, लक्ष्मण धाकडे, निलकंठ ढोके, रमेश सोनुले, आनंद आमले, राजेंद्र भांबोरे, आदि पदाधिकारी उपस्थित थे. रैली में बडी संख्या में शामिल होने का आव्हान अभा किसान संघर्ष समन्वय समिति व अमरावती जिला ट्रेड युनियन कौंसिल की ओर से किया गया. अमरावती में महाविकास आघाड़ी के घटक दलों की यह पहली संयुक्त बैठक और आंदोलन है.