Shiv Senas movement against inflation in Aurangabad

    औरंगाबाद : इंधन के दामों (Fuel Prices) सहित घरेलू गैस (Domestic Gas) और जीवनावश्यक वस्तुओं (Essential Commodities) के दाम आए दिन आसमान छू रहे है। जिससे आम आदमी का जीना दुश्वार हुआ है। महंगाई (Inflation) से जनता त्रस्त हो चुकी है। महंगाई पर लगाम लगाने में मोदी सरकार (Modi Government) पूरी तरह विफल होने से इसका निषेध करने  के लिए शिवसेना की ओर से रविवार को क्रांति चौक में भव्य आंदोलन किया गया।

    आंदोलन का नेतृत्व शिवसेना जिला प्रमुख अंबादास दानवे, विधायक संजय सिरसाठ और पूर्व मेयर नंदकुमार घोडेले ने किया।  आंदोलन में शामिल महिलाओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए कंदों पर गैस सिलेंडर लेकर अपने गुस्से का इजहार किया।

    महंगाई के खिलाफ किए आंदोलन में शिवसैनिकों ने वारे मोदी तेरा खेल… सस्ती शराब महंगा तेल….. मोदी सरकार हाय हाय, केंद्र सरकार हाय हाय के नारे लगाकर महंगाई का कड़ा विरोध किया। शिवसैनिकों ने शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे, मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे जिंदाबाद के जोरदार नारे लगाकर क्रांति चौक से गुजरने वाले लोगों का ध्यान आकर्षित किया।

    अब तक मोदी सरकार ने सिर्फ झूठे आश्वासन दिए

    आंदोलन के दरमियान  पत्रकारों से बातचीत करते हुए शिवसेना जिला प्रमुख अंबादास दानवे ने कहा कि 2014 के पूर्व केंद्र में जब कांग्रेस की सरकार थी, तब बीजेपी ने जनता को झूठे आश्वासन देकर सत्ता पाई। कांग्रेस की सरकार थी, तब मामूली महंगाई होने पर बीजेपी नेता  सड़कों पर उतरकर हंगामा करते थे। जनता उनके झूठे आश्वासनों को जान चूकी है। 2014 से पूर्व बीजेपी वाले कहते थे, बहुत हुई महंगाई की  मार, अब की बार मोदी सरकार। तब बीजेपी ने जीवनावश्यक वस्तुओं के दाम कम करने का वादा जनता से किया था।

    झूठे सरकार से होशियार रहने की अपील विधायक दानवे ने की

    गत 8 सालों में महंगाई कम करना तो  दूर, महंगाई आए दिन आसमान छू रही है। 2014 में जो गैस 400 रुपए का  था, आज वह 1 हजार 50 रुपए पर जा पहुंचा है। इंधन के दाम 100 पार कर चुके है। जिससे अनाज, औषधियों के दाम आसमान छू रहे है। मोदी सरकार से पूर्व केंद्र की एक्साईज डयूटी 11 से 12 रुपए थी, आज वह  39 रुपए पर पहुंची है। केंद्र सरकार ने एक्साइज डयूटी बढ़ाने से इंधन के दाम आसमान छू रहे है। जनता ने  ऐसे झूठे सरकार से होशियार रहने की अपील विधायक दानवे ने की। 

    चुनाव को सामने रखकर तय किए जाते इंधन के दाम 

    इस अवसर पर विधायक संजय सिरसाठ ने कहा कि इंधन के दाम आसमान छूने से आम आदमी का जीना दुश्वार हुआ है। चुनाव सामने आते ही इंधन और अन्य जीवनावश्यक वस्तुएं के दाम कम किए जाते। चुनाव समाप्त होते ही फिर दाम बढ़ाए जाते। यह गलत नीति केंद्र सरकार अपना रही है। बीते 8 सालों से बढ़ती महंगाई का हम निषेध करते है। आंदोलन में संतोष जेजुरकर, बंडू ओक, राजेंद्र जंजाल, राजेंद्र राठोड, कृष्णा पाटिल डोणगांवकर, अनिल पोलकर, बप्पा दलवी, विनायक पांडे, विश्वनाथ स्वामी, बालासाहाब थोरात, विजय वाघचौरे, बाबासाहाब  डांगे, आशा दातार, मीरा देशपांडे, अनिता मंत्री, प्रतिभा जगताप, हिरा सलामपुरे, जयसिंह होलिए, वामन शिंदे, प्रीतेश जैसवाल, मकरंद कुलकर्णी, प्रमोद ठेंगडे, सतीश निकम, रतन साबले, राजेन्द्र दानवे, समीर कुरैशी, अब्दुल रहिम, शेख रब्बानी आदि ने हिस्सा लिया।