पुलिस अमलदार स्नेहल गजभिये का विदेश मंत्रालय में चयन : जिले का गौरव बढा

    भंडारा. भंडारा जिला पुलिस प्रशासन में 2010 में  शामिल हुए स्नेहल गजभिये काे मिनिस्ट्री आॅफ एक्सटर्नल अफेयर्स नई दिल्ली  में चयनित किया गया. अपने कंप्यूटर और अन्य तकनीकी ज्ञान में अनुभव की बदौलत लोहा मनवाया है. उसकी कुशलता की पुलिस विभाग में प्रशंसा होती है. उसने विभिन्न गोपनीय कार्यों के लिए अपराध शाखा के साथ-साथ साइबर अपराध विभाग में काम करने के लिए सौंपा गया था. क्रैकिंग में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है.

    गंभीर अपराधों की जांच में सराहनीय कार्य के लिए उन्हें 2019 में पुलिस महानिदेशक, मुंबई द्वारा उत्कृष्ट अन्वेषण व अपराध सिद्धि पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्हें उनके तकनीकी ज्ञान तकनीकी अपराध के साथ साइबर सेल के बारे में जनजागृति की जिम्मेदारी सौंपी गई थी.  

    आनलाईन धोखाधड़ी जांच में महारत

    साइबर अपराधों की रोकथाम के साथ-साथ विभिन्न शिकायतकर्ताओं की धोखाधड़ी की शिकायतों से लाखों रुपये लौटाए जा सके.

    साक्षात्कार के बाद हुआ चयन

    स्नेहल गजभिये द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन एवं उत्तम सर्विस शीट से प्रभावित होकर नई दिल्ली में साक्षात्कार लिया गया. जिसके पश्चात उन्हें मिनिस्ट्री आफ एक्सटेर्नल अफेअर्स में चयनित किया गया.

    जिले के पहले कर्मचारी

    मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स में कुछ समय तक प्रशिक्षण लेने के बाद में स्नेहल गजभिये यह विदेश में सेवा देंगे.  भंडारा जिला पुलिस बल से विदेश मंत्रालय, दिल्ली में चयनित होने वाले पहले पुलिसकर्मी है.  उनकी इस उपलब्धि पर एसपी वसंत जाधव, एएसपी अनिकेत भारती, एलसीबी पी आय जयवंत चव्हाण ने उनका अभिनंदन किया है.