सरकारी अस्पताल में 500 रू. के खातिर नवजात शिशु को माँ को नहीं सौंपा

  • 2 दिन के भीतर होगी दोषियों पर कार्रवाई
  • डा. जे.आर. मकानदार

चिखली. 2 दिन पहले चिखली के सरकारी अस्पताल से अनियमितता की चरमसीमा पार करनेवाला प्रकरण सामने आया था. जिसमें अस्पताल कर्मियों द्वारा महिलाओं की प्रसूति के लिए पैसों की मांग करने की बात कहते हुए मरीज के परिजनों का एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसके बाद शहर समेत प्रशासन में हड़कंप मच गया था. और देखते ही देखते लोगों के बीच सरकारी अस्पताल के कर्मियों के विरुद्ध काफी रोष दिखाई दिया.

इस घटना का सारा लेखा जोखा जब खबर के माध्यम से बाहर आया तब अस्पताल प्रशासन की नींद उड़ गई. जिसके बाद स्थानीय अस्पताल प्रशासन ने 5 लोगों की एक समिति बनाकर इस विषय में जांच के आदेश दिए हैं. वही जिला प्रशासन ने भी इस प्रकरण को अधिक गंभीरता से लेते हुए 2 लोगों की सदस्य वाली एक जांच समिति बनाई है. जिसकी अगुवाई निवासी चिकित्सा अधिकारी, बाह्य संपर्क डा. जे. आर. मकानदार कर रहे है, तो उनके सहयोगी के रूप में प्रभारी अतिरिक्त जिला शल्य चिकित्सक डा. सचिन कदम इस जांच समिति में सम्मिलित है.

इस प्रकरण के बारे में नवभारत से बात करते हुए डा. मकानदार ने कहा कि यह घटना काफी गंभीर है. इस प्रकरण की जांच निष्पक्ष एवं अधिक तीव्र गति से करते हुए अगले 2 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट तैयार कर लेंगे. तथा दोषियों के ऊपर नियम के अनुसार कार्रवाई करने के साथ साथ भविष्य में भी इस तरह की कोई घटना दोबारा सामने न आए इसके लिए सतर्कता बरतेंगे.