File Photo
File Photo

    • बाघ की ग्रामवासियों में दहशत 
    • बाघ का बंदोबस्त करने की मांग 

    चंद्रपुर.  सिंदेवाही तहसील के रत्नापुर बीट के पास खांडला परिसर में पलसगांव वनपरिक्षेत्र के पिपार्डा कक्ष क्र 563 में मवेशीयों को जंगल में चराने ले गए किसान पर झाडीयों में छिपे बाघ ने अचानक हमला कर दिया. जिसमें किसान की घटनास्थल पर मृत्यु हो गई. मृतक किसान का नाम अनिल सोनुले 36 है. यह खांडला गांव का निवासी है. खेती के मौसम में बाघ के हमलों से तहसील में भय का माहोल है. 

    खांडला गांव परिसर के पलसगांव ( पिपर्डा) बफर वनपरिक्षेत्र अंतर्गत आनेवाले जंगल परिसर में किसान अनिल सोनुले यह स्वयं की मवेशी चराने के लिए ले गया था. रविवार 19 सितम्बर को अनिल अपने तीन साथीदारों के साथ गांव से सटे जंगल परिसर में गया था. रविवार की दोपहर 3 बजे झाडीयो में छिपे बाघ ने अचानक अनिल पर हमला किया. अनिल स्वयं को बाघ के चुंगूल से छुडाने में असफल रहा. बाघ अनिल को खिचते हुए लेकर जाते समय सहयोगी गजानन कुंभरे के ध्यान में आने पर उसने शोर मचाया. परंतु उसका कुछ फायदा नही हुआ. 

    घटना की जानकारी पलसगांव वनविभाग को दी गई. वनकर्मचारीयों ने घटनास्थल पहुचकर पंचनामा किया. सिंदेवाही पुलिस स्टेशन के थानेदार योगेश घारे टीम समेत घटनास्थल पहुचे. शव का पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए रवाना किया गया. 

    घर का अकेला पुरूष प्रमुख होने के कारण परिवार पर आर्थिक संकट छाया है. अनिल पांडुरंग सोनुले की मृत्यु के पश्चात वनविभाग ने परिवार को 25 हजार रूपए की आर्थिक सहायता की. दौरान बाघ के हमले में मृत किसान युवक की मृत्यु से शोक फैला है. 

    परिसर में बाघ की दहशत 

    सिंदेवाही तहसील में पिछले कुछ दिनों से बाघ का मुक्त संचार चल रहा है. दो दिन पहले सिंदेवाही के इंदिरानगर टेकडी परिसर में शनिवार को बाघ ने हमला किया था. जिसमें 2 बैलों की मृत्यु हुई थी. यह घटना ताजी होने पर रविवार की दोपहर किसान पर हमला किया. तहसील के नवरगांव, रत्नापुर, सरंडी, खांडला गाव परिसर में वाघ की दहशत होने से वाघ का बंदोबस्त करने की मांग ग्रामवासियों द्वारा वनविभाग से की जा रही है.