Five members of a family including four children died due to lightning in Assam

    वरोरा. तहसील के  दिंडोडा (सोईट) में आज शनिवार की दोपहर 2 बजे अचानक एक पेड पर गिरी गाज की चपेट में आने से हाल ही में कक्षा बारहवीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सोहम काले की मौत हो गई और 5 अन्य जख्मी हो गए है

    मृतक दिंडोडा निवासी सोहम हरि काले (18) है और जख्मियों में उज्वला हरि काले (38), कार्तिक हरि काले (14), ललित बाबा काले (32), नितीन बाबा काले (25) और शिवम देविदास काले (13) का समावेश है. शुक्रवार को हुई बरसात के बाद वरेारा तहसील में कृषि कार्य शुरु हो गए है. आज दोपहर खेत में काम कर सभी लोग अपने घर की ओर लौट रहे थे कि अचानक तेज गर्जना के साथ बरसात शुरु हो गई. बरसात से बचने के लिए सभी लोग एक पेड के नीचे खडे हो गए.

    इस बीच अचानक पेड पर गाज गिरने से सोहम की मौत हो गई और अन्य पांच जख्मी हो गए. सूचना मिलने पर सभी घायलों को उपचार के लिए उपजिला असपताल वरोरा में दाखिल किया गया. किंतु कुछ घायलों की हालत नाजुक होने स आगामी उपचार के लिए चंद्रपुर भेजा है. मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए लाया गया. 

    आसमानी बिजली से बचने के उपाय, प्रशासन ने चेताया

    बरसात के दिनों में अक्सर तेज बरसात के साथ गाज गिरने की घटनाएं होती रहती है. ऐसे समय पर घर से बाहर खेत में रहने वालों को राज्य सरकार के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा लोगों को सतर्क रहने के लिए दिशा निर्देश जारी किया गया है.  वृक्ष बिजली को आकर्षित करते हैं. अत बिजली चमकते समय वृक्ष के नीचे न खड़े रहें, ऊंची इमारतों वाले क्षेत्र में आश्रय न लें समूह में खड़े होने के बजाय अलग- अलग हो जाएं.

    किसी मकान में आश्रय लेना बेहतर है. सफर के दौरान अपने मजबूत छत वाले वाहन में रहें, खुली छत वाले वाहन की सवारी न करें, बाहर रहने पर धातु से बने वस्तुओं का उपयोग न करें. बाइक, बिजली या टेलीफोन का खंभा तार की बाड़ और मशीन आदि से दूर रहें. मोबाइल फोन का उपयोग बिलकुल न कर इस प्रकार आसमानी बिजली से बचा जा सकता है. इसलिए प्रशासन ने नागरिकों से सावधानी बरतने की अपील की है.