ST Strike
File Photo

    गोंदिया. एसटी कर्मियों की विविध मांगों को लेकर विगत 50 दिनों से जारी हड़ताल के बीच 23 दिसंबर को दोपहर 1.10 बजे के दौरान गोंदिया बस स्थानक पर भंडारा डिपो से 12 यात्री लेकर एसटी बस पहुंची थी. इसके दूसरे दिन 24 दिसंबर की सुबह 11.30 बजे भंडारा डिपो से फिर एक बार एसटी बस गोंदिया डिपो में पहुंची.

    इस बीच यात्रियों को बस स्थानक पर एसटी बस पहुंचने की भनक लगते ही आधे घंटे के भीतर एसटी बस यात्रियों से फुल हो गई. इस बस में 40 यात्री सवार हुए थे, जो गोंदिया से नागपुर जा रहे थे. जिसके बाद यात्रियों को लेकर यह बस गोरेगांव, मुंडीपार, साकोली, भंडारा होते हुए आगे रवाना हुई.

    इधर, बस स्थानक पर धीरे-धीरे जम रहीं यात्रियों की भीड़ के कारण पिछले कई दिनों से वीरान पड़े बस स्थानक में चहल पहल रहीं. इधर, आंदोलनकर्ता एसटी कर्मचारियों ने आगामी 5 जनवरी को न्यायालय में होने वाली सुनवाई को लेकर अपना रवैया शांतिपूर्ण रखा है.

    न्यायालय के निर्णय के बाद ही आंदोलन की रणनीति तय की जाएगी. लेकिन पिछले डेढ़ माह से जारी एसटी कर्मियों की हड़ताल के चलते यात्रियों को आवागमन को लेकर काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं इस हड़ताल की वजह से एसटी डिपो को प्रतिदिन 10 लाख रु. का नुकसान सहना पड़ रहा है.

    गोंदिया एसटी डिपो व्यवस्थापक संजना पटले ने बताया कि गोंदिया बस स्थानक से प्रतिदिन सुबह 11.30 बजे व दोपहर 4 बजे दो फेरिया लगेगी. गोंदिया-नागपुर तक सफर के लिए प्रति यात्री 265 रुपए भाड़ा लिया जाता है जो निजी यात्री वाहनों से काफी कम है. हड़ताल के कारण यात्रियों को होनेवाली परेशानियों को देखते हुए गुरुवार से भंडारा डिपो से एसटी बस गोंदिया डिपो में पहुंच रही हैं. पहले दिन, 12 यात्रियों ने गोंदिया से नागपुर तक सफर किया है. 24 दिसंबर को सुबह 11.30 बजे बस स्थानक पर पहुंची, जिसमें 40 यात्रियों ने सफर किया है.