GMCH

  • तलाश में पुणे रवाना हुई पुलिस

नागपुर. शासकीय मेडिकल कॉलेज की पैरामेडिकल स्टाफ पर पिस्तौल तानकर जान से मारने की कोशिश करने वाले आरोपी का कोई सुराग नहीं मिला. पुलिस लगातार उसकी जांच में जुटी है लेकिन अब तक कामयाबी नहीं मिली. आरोपी विक्की राधेश्याम चकोले (28) वलनी खापरखेड़ा का रहने वाला है.

पुलिस ने 24 वर्षीय पीड़िता की शिकायत पर उसके खिलाफ हत्या का प्रयास और छेड़खानी का मामला दर्ज किया है. फेसबुक पर युवती और विक्की की दोस्ती हुई थी. मित्रता को प्रेम संबंधों में बदलते देरी नहीं लगी. 10वीं कक्षा में फेल विक्की ने उसे बीटेक इंजीनियर होने की जानकारी दी थी. विक्की कोयले का काम करता था लेकिन व्यापार डूब गया. तब से वह लोगों से पैसा उधार मांगकर अपना काम चला रहा था. उसके खराब बर्ताव के कारण युवती ने संबंध तोड़ लिए थे लेकिन पिछले 6 महीने से वह उसे परेशान कर रहा था.

5 महीने पहले युवती ने अजनी पुलिस से उसकी शिकायत भी की थी लेकिन कोई एक्शन नहीं हुआ. बताया जाता है कि पिछले 15 दिनों से विक्की कॉटन मार्केट के समीप स्थित लॉज में रह रहा था. सोमवार की शाम उसने युवती के साथ विवाद कर पिस्तौल कनपटी पर रखकर फायर किया.

पिस्तौल से गोली नहीं निकली और युवती की जान बच गई. पुलिस को उसका आखिरी लोकेशन अमरावती में मिला था. इसीलिए 2 टीमें उसकी तलाश में अमरावती गई थीं. वहां उसका कोई सुराग नहीं मिला. इस बीच उसके पुणे में होने की जानकारी मिली तो जांच दल पुणे रवाना हो गया.