fraud
Representative Photo

  • बेटे को एमडी पाठ्यक्रम में प्रवेश दिलाने का दिया झांसा

नागपुर. बेटे को एमडी पाठ्यक्रम में प्रवेश दिलाने का झांसा देकर 2 लोगों ने डॉक्टर को 11.37 लाख रुपये का चूना लगा दिया. 2 वर्ष बीत जाने के बावजूद प्रवेश नहीं मिला और आरोपियों ने रकम भी नहीं लौटाई. आखिर परेशान होकर डॉक्टर ने धंतोली पुलिस से शिकायत की. पुलिस ने करीम लेआउट निवासी डॉक्टर अभय यशवंतराव भलमे (64) की शिकायत पर मामला दर्ज किया है. आरोपियों में विट्ठलनगर मानेवाड़ा निवासी देवेंद्र गोवर्धन ठवले (40) और हनुमाननगर निवासी समीर टोनपे (40) का समावेश है.

देवेंद्र और समीर मेडिकल, इंजीनियरिंग और अन्य पाठ्यक्रमों में एडमिशन दिलाने का काम करते है और कमिशन लेते हैं. डॉक्टर भलमे का अस्पताल धंतोली परिसर में है. उन्हें अपने बेटे को एमडी पाठ्यक्रम में प्रवेश दिलाना था. फरवरी 2019 में एक दोस्त के जरिए भलमे की पहचान आरोपियों से हुई.

दोनों आरोपियों ने उनके बेटे को मुंबई के एक कॉलेज में प्रवेश दिलाने का झांसा दिया. समय-समय पर आरोपियों ने उनसे 11.37 लाख रुपये लिए. 2 वर्ष बीत गए लेकिन एडमिशन नहीं हुआ. भलमे ने आरोपियों से अपनी रकम वापस मांगी तो टालमटोल करने लगे. उन्होंने मामले की शिकायत पुलिस से की. पीएसआई सोनुले ने प्राथमिक जांच के बाद धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. आरोपियों की तलाश जारी है.