Gang Rape

  • 04 आरोपी हिरासत में, 3 की तलाश जारी

नागपुर. एमआईडीसी पुलिस थाने के इसासनी, माधवनगरी परिसर में गत रात एक 17 वर्षीय किशोरी के साथ गैंग रेप किए जाने का मामला सामने आया है. पीड़िता सड़क किनारे अपने बॉयफ्रेंड के साथ खड़ी थी. इसी दौरान 3 अज्ञात युवक वहां पहुंचे. उन्होंने बॉयफ्रेंड से मारपीट कर नाबालिग किशोरी के साथ तीनों ने बारी-बारी दुष्कर्म अंजाम दिया. इस मामले में फिलहाल पुलिस ने 4 आरोपियों को हिरासत में लिया है. साथ ही 3 अन्य आरोपियों की तलाश जारी है. हिरासत में लिये गये युवकों के नाम बॉयफ्रेंड आकाश भंडारी के साथ ही अजय सुरनकर, संदीप पांढ़रे और जमाल बताये गये हैं.आकाश पीड़िता का बॉयफ्रेंड है.

मोबाइल छीना, मारपीट कर भगाया

प्राप्त जानकारी के अनुसार पीड़ित किशोरी 17 वर्ष की है और एमआईडीसी परिसर में ही रहती है. किशोरी ने पुलिस को बताया कि उसके घर में मां, छोटी बहन और भाई हैं लेकिन वह अपने परिवार के साथ रहने के बजाय वानाडोंगरी में अपनी सहेली के साथ रहती है. वहां उसकी दोस्ती 25 वर्षीय पंचशीलनगर निवासी आकाश से हुई. उनके बीच प्रेमसंबंध हुए और फिर आकाश उसके सुनसान जगह पर ले जाकर बार-बार उसके साथ दुष्कर्म करता रहा. कुछ दिन बाद आकाश उसे अपनी बाइक पर बैठाकर माधवनगरी ले गया. वहां अजय सुरनकर, संदीप पांढ़रे और जमाल पहले से मौजूद थे. आकाश ने उनसे 1,000-1,000 रुपये  लिये थे. यहां भी तीनों ने किशोरी के साथ दुष्कर्म किया. ऐसा 2 बार हुआ. घटना की रात भी तीसरे बार में भी आकाश ने पैसे लेकर अजय सुरनकर, संदीप पांढ़रे और जमाल को बुलाया लेकिन तीनों नहीं आये. पीड़िता ने बताया कि इसके बाद आकाश ने उससे जबरन शारीरिक संबंध बनाये. 

झाड़ियों में किया दुष्कर्म 

इसके बाद दोनों घर लौट रहे थे कि पीछे से 3 युवक पहुंचे. उन्होंने आकाश का मोबाइल छीन लिया, उससे मारपीट की और भगा दिया. तीनों ने किशोरी को झाड़ियों में ले जाकर बारी-बारी से दुष्कर्म किया और वहां से भाग गए. पुलिस को जांच में पता चला कि पीड़ित किशोरी इससे पहले भी एक युवक के साथ घर से भाग गई थी और तब यह मामला पुलिस थाने में भी पहुंचा था. उस समय किशोरी को पुलिस ने ढूंढ कर लाया और बाल सुधार गृह भी भेजा गया था. बाल सुधार गृह से वापस आने के बाद यह युवती आकाश भंडारी के प्रेम जाल में फंस गई थी. आकाश पैसों का लालच देकर पीड़ित किशोरी से देह व्यवसाय करवाने लगा था. पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी.