NMC

    नागपुर. नागपुर सहित विदर्भ में अन्य 3 मनपा चुनाव एक वार्ड एक पार्षद पद्धति से कराने की मांग जय विदर्भ पार्टी ने की है. अपनी मांग का निवेदन शिष्टमंडल के माध्यम से जिलाधिकारी आर.विमला को सौंपकर कहा कि कुछ दिनों से मनपा चुनाव की तारीख तो तय नहीं हुई लेकिन प्रभाग रचना में बार-बार बदलाव बड़ी राजनीतिक पार्टियां अपने हिसाब से कर सत्ता में आने के बात कर रही हैं. अब फिर 4 पार्षद के प्रभाग सिस्टम की घोषणा की गई है.

    पार्टी अध्यक्ष अरुण केदार, विष्णु आष्टीकर, मुकेश मासुरकर, गुलाबराव धांडे, तात्यासाहब मते, ज्योति खांडेकर सहित पदाधिकारियों ने कहा कि 4 सदस्यीय प्रभाग रचना छोटी राजनीतिक पार्टियों और निर्दलीय चुनाव लड़ने के इच्छुक प्रतिनिधियों का नामोनिशान मिटाने का षड्यंत्र है. ठाकरे सरकार के काल में मुंबई महानगर में प्रभाग रचना के बिना वार्ड सिस्टम से चुनाव कराने का निर्णय लिया गया और अब मनपा नागपुर में 4 सदस्यीय प्रभाग सिस्टम की घोषणा की गई. बड़ी पार्टियों द्वारा अपनी सहूलियत व बार-बार बहुमत से सत्ता पाने के लिए यह षड्यंत्र रचा गया है. 

    एक ही राज्य में अलग-अलग नियम

    सवाल उठाया गया कि एक ही राज्य में अलग अलग महानगरों के लिए अलग-अलग नियम लागू कर जनता की परेशानी बढ़ाने का प्रयास हो रहा है. छोटी पार्टियों के उम्मीदवारों को अड़चन में लाने का काम किया जा रहा है. मुंबई महानगर में स्वतंत्र वार्ड सिस्टम का नियोजन किया है, उसी तर्ज पर नागपुर में भी एक वार्ड एक पार्षद सिस्टम लागू किया जाए.

    पहले ठाकरे सरकार ने नागपुर में 3 सदस्यीय प्रभाग रचना से चुनाव की घोषणा कर प्रशासन से कसरत करवायी और जैसे ही सरकार बदली तो 4 सदस्यीय प्रभाग कर दी गई. शिष्टमंडल ने चेतावनी दी कि 10 दिनों में अगर नागपुर सहित विदर्भ के 3 मनपा चुनाव में एक वार्ड एक पार्षद सिस्टम नहीं किया गया तो अन्य छोटी पार्टियों के साथ मिलकर आंदोलन किया जाएगा.