File Photo
File Photo

    नागपुर. जिलाधिकारी विमला आर ने कहा कि विविध शासकीय महामंडल द्वारा संचालित कर्ज योजना, सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग कर्ज योजना का लाभ संस्था व उद्योजक उठाएं. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के आशावादी उपक्रम ‘एक गांव एक समन्वयक’ की तर्ज पर कर्ज योजनाओं के प्रभावी अमल के लिए बचत गटों की महिलाओं को व्यवसाय समन्वयक (बीसी सखी) के रूप में करने के लिए बैंक विशेष प्राथमिकता दें.

    वे केन्द्र सरकार के वित्तीय सेवा विभाग, जिला अग्रणी बैंक की ओर से क्षेत्रीय कार्यालय परिसर में आयोजित कर्ज व उद्योजकों के लिए सुसंवाद मेला में बोल रही थीं. इस अवसर पर जिप सीईओ योगेश कुंभेजकर, बैंक ऑफ इंडिया के विभागीय व्यवस्थापक संतोष एस., जिला अग्रणी व्यवस्थापक पंकज देशमुख उपस्थित थे. जिलाधिकारी ने विविध योजनाओं के संदर्भ में मार्गदर्शन किया. 

    नये आइडिया पर दें जोर

    कुंभेजकर ने कहा कि बैंक ग्राहकों की अपेक्षा सेवा व उत्पादन के क्षेत्र में नए आइडिया को अमल करें व ऐसे घटक को कर्ज देने में प्राथमिकता दें. बैंक ऑफ इंडिया के संतोष एस. ने कहा कि बैंक उद्योजकों को कर्ज देने के लिए हमेशा कटिबद्ध है जिससे उद्योजकों के साथ ही बैंक की भी प्रगति में मदद होगी. उन्होंने कहा कि जिले के सभी छोटे-मध्यम उद्योजक योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाएं.