Bribe

    नागपुर. सेवानिवृत्त शिक्षक की सर्विस बुक तैयार करके बकाया राशि दिलाने की एवज में 2,000 रुपये की रिश्वत लेने वाले काटोल नगर परिषद के लिपिक को एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने रंगेहाथ गिरफ्तार किया. काटोल के ही बाजार में यह कार्रवाई हुई और खलबली मच गई. पकड़ा गया आरोपी काटोल निवासी कृष्णा गंगाधरराव मानकर (58) बताया गया. मानकर काटोल नगर परिषद के शिक्षा विभाग में लिपिक है. शिकायतकर्ता नगर परिषद की स्कूल से सेवानिवृत्त शिक्षक हैं.

    सेवानिवृत्त होने से पहले उन्होंने सर्विस बुक तैयार करने और निवृत्त होने के बाद मिलने वाली रकम के बारे में मानकर से मिलकर पूछताछ की थी. मानकर ने उनका काम करके देने के लिए 2,000 रुपये की रिश्वत मांगी. कुछ महीने पहले शिकायतकर्ता निवृत्त हो गए. उनकी सर्विस बुक भी बन गई और पेंशन का भी सारा काम हो गया. इसके बाद मानकर उनसे पैसों की मांग करने लगा. 5 अक्टूबर को मानकर ने शिकायतकर्ता से फोन पर संपर्क किया और 2,000 रुपये मांगे.

    शिक्षक ने उसके खिलाफ एसीबी कार्यालय में शिकायत की. डीवायएसपी योगिता चाफले ने गोपनीय तरीके से मामले की छानबीन की. शिकायत सही पाई गई और मानकर को पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया. योजना के तहत शिकायतकर्ता ने मानकर से संपर्क किया. मानकर ने सोमवार को उन्हें पैसे लेकर काटोल के साप्ताहिक बाजार में मिलने बुलाया. जैसे ही उसने रिश्वत की रकम ली, जाल बिछाकर बैठी एसीबी की टीम ने उसे रंगेहाथ दबोच लिया.

    मानकर के खिलाफ काटोल थाने में भ्रष्टाचार प्रतिबंधक कानून के तहत मामला दर्ज किया गया. मंगलवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. एसपी राकेश ओला और एडिश्नल एसपी मिलिंद तोतरे के मार्गदर्शन में डीवायएसपी योगिता चाफले, इंस्पेक्टर संजिवनी थोरात, कांस्टेबल रविकांत डहाट, अनिल बहिरे, अमोल मेंघरे और प्रिया नेवारे ने कार्रवाई की.