Baba Sheikh killer was caught, was absconding for a year

    नाशिक. बाबा शेख के हत्यारे (Killer) को पकड़ने  में क्राइम  ब्रांच (Crime Branch) को सफलता मिल गई है। पिस्तौल से अंधाधुंध फायरिंग कर के हत्या करने वाले हत्यारा पिछले एक साल से फरार (Absconding) था। मिली जानकारी के अनुसार एक साल पहले बाबा शेख नामक व्यक्ती पर डीजीपी नगर, वडाला रोड पर पिस्तौल (Pistol) से अंधाधुंध फायरिंग कर के उसकी हत्या कर दी गई थी। पूरे एक साल के बाद संदिग्ध हत्यारे को पकड़ने  में क्राइम ब्रांच को सफलता मिल गई है। संदिग्ध का नाम सागर चंद्रकांत अहिरे (28)  बताया जा रहा है।

    साकोरी तहसील नांदगाव जिला नाशिक से उसे जाल बिछा कर गिरफ्तार किया गया है। क्राइम  ब्रांच के पुलिस उपनिरीक्षक  माणिक गायकर, हवालदार श्रीराम सपकाल, संजय गामणे, संदीप पवार, सचिन आजबे, मिलिंदबागुल, को मिली गोपनीय सूचना और  तांत्रिक विश्लेषण के आधार पर संदिग्ध को पकड़ने  में सफलता मिली है। गुन्हा रजि. नंबर 451/2020 भा.दं.वि.सं.कलम 302,  34 के साथ भारतीय हत्यार कानून की कलम 3/25 के अंतर्गत  संदिग्ध सागर चंद्रकांत अहिरे के विरूध्द गुन्हा दर्ज हुआ है। आगे की कार्यवाही  के लिए उपनगर पुलिस को उसे सौंप दिया गया है।  इस मामले की पूरी जांच पहले पुलिस निरीक्षक कुंदन जाधव ने की थी, उन्होंने संदिग्ध के विरुद्ध  चार्जशीट  दाखिल कर दिया है। 

    गोदाम में चोरी करने वाले दो गिरफ्तार

    वहीं नाशिक में एक चोरी की घटना  सामने आई है। जहां नाशिक सहकारी शक्कर कारखाना के गोदाम से इलेक्ट्रॉनिक पंप चोरी करने के मामले में दो बदमाशों को नाशिक पुलिस (Nashik Police) ने गिरफ्तार (Arrested) किया। जिनके पास से करिब 2 लाख 30 हजार रुपए की सामग्री बरामद कि गई है।  नाशिक सहकारी शक्कर कारखाना के गोदाम से के.एस.बी. कंपनी का सबमर्सिबल पंप और मोटर सहित एक लाख पाच हजार रुपए की अज्ञात बदमाशों ने चोरी कि थी। इस संदर्भ में योगेश नागरे ने शिकायत दर्ज कराई थी। नाशिकरोड अपराध शोध पथक के पुलिस हवालदार राजेश साबले को गुप्त जानकारी मिलने के बाद उन्होंने कार्रवाई की। अनिल उर्फ सोनू माणिक शिंदे और रोशन उर्फ बंटी आनंदा गायकवाड़ को हिरासत में लिया गया। जिनके पास से चोरी की सामग्री बरामद कि गई।