Temperature

    वणी : जलवायु परिवर्तन (Climate Change) और बारिश (Rain) की भविष्यवाणी के बाद से पिछले तीन दिनों से तापमान (Temperature) में गिरावट दर्ज की जा रही है। अप्रैल महीने में यहां तापमान चरम (Extreme) पर रहा। अप्रैल महीने में यही चर्चा हो रही थी कि अभी से यह हाल है तो मई में क्या होगा और अनुमान के मुताबिक मई महीने के पहले सप्ताह में तापमान में बहुत ज्यादा रहा। अप्रैल महीने में वणी के लोगों को 42 डिग्री (42 Degree) तक तापमान सहन करना पड़ा है। 

    अप्रैल महीने में तापमान ज्यादातर दिनों में 36-37 डिग्री (36-37 Degree) दर्ज किया गया था। भीषण गर्मी (Scorching Heat) में मौसमी बीमारियों (Diseases) ने भी जोर दिखाया। बुखार (Fever), डिहाइड्रेशन (Dehydration), बदन दर्द (Body Ache), लू (Heat Stroke) लगने समेत कई तरह की बीमारियों का भी लोगों को सामना करना पड़ा था। अप्रैल की तुलना में मई महीने की अब तक की अवधि में बाजारों और  सड़कों पर दोपहर में सन्नाटा ही छाया रहता था। लेकिन पिछले तीन दिनों में तापमान में गिरावट दर्ज की गई, जिससे लोगों को राहत मिली और दोपहर में बाजारों और सड़कों पर छाई वीरानी कुछ हद तक कम हुई है। 

    लोग कह रहे ऐसा ही सुहावना बना रहे मौसम

    मौसम में आए बदलाव से लोगों को राहत तो जरूर मिली है, लेकिन यह राहत स्थायी न होकर कुछ दिनों की ही है। मौसम विभाग की ओर से पिछले दिनों यह जानकारी दी गई थी कि इस वर्ष मानसून का आगमन 10 दिनों पहले होगा, इस लिहाज से चालू मई के अंत तक राज्य में मानसून सक्रिय हो सकता है, कहीं ऐसा तो नहीं मौसम में आया यह बदलाव कुछ इसी तरह का संकेत दे रहा हो। भीषण गर्मी से परेशान लोगों को बदले मौसम के कारण बहुत राहत मिली है, उनका कहना है कि मौसम इसी तरह सुहावना बना रहे।