Case registered

    पुणे. सस्ते घर का विज्ञापन (Advertisement) देकर ग्राहकों से ठगी (Cheating) करने के मामले में ‘वास्तुशोध’ (Vastushodh)के कुलकर्णी भाइयों (Kulkarni Brothers) पर एक और मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में मिलिंद चिंतामणी ताजणे (48, निवासी संभाजीनगर, चिंचवड़, पुणे) ने अलंकार पुलिस स्टेशन में केस दर्ज कराया है। इसके अनुसार पुलिस (Police) ने सचिन बालकृष्ण कुलकर्णी और नितिन बालकृष्ण कुलकर्णी (दोनों निवासी लोटस प्लाजा, कोथरुड, पुणे) के खिलाफ मामला दर्ज किया है।  

    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, वास्तुशोध के सातारा जिले के खंडाला में अर्बनग्राम नामक प्रोजेक्ट में ताजणे ने 403 नंबर का फ्लैट ख़रीदा था। खंडाला के सब रजिस्ट्रार कार्यालय में खरीदी का डॉक्युमेंट्स बनवाकर उसका अप्रैल 2016 में रजिस्ट्रेशन कराया  गया था। इसके लिए उन्होंने समय-समय पर 11 लाख 27 हज़ार 418 रुपए कंपनी के अकाउंट में ट्रांसफर किए थे। उनके द्वारा ख़रीदे गए फ्लैट का कंस्ट्रक्शन अधूरा रखा गया और उसे अब तक कब्जे में नहीं दिया गया है। 

    अन्य निवेशकों ने मुंबई, उल्हासनगर, ठाणे में शिकायत दर्ज कराई

    इसके साथ ही आरोपियों द्वारा शिकायतकर्ता को दिया गया 7 लाख 81 हज़ार 961 रुपए का चेक बाउंस हो गया। इसे लेकर पुलिस ने दोनों के खिलाफ़ मामला दर्ज किया है। इससे पहले कोंढवा धावड़े के प्रोजेक्ट के फ्लैट के लिए कुलकर्णी भाइयों ने 18 लोगों से 5 करोड़ 70 लाख रुपए लिए थे । इसके बाद फ्लैट का निर्माण कार्य  बंद कर दिया गया। इस मामले में उत्तमनगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई है। इस मामले में पुलिस ने अगस्त महीने में सचिन और नितिन कुलकर्णी को गिरफ्तार किया था। दोनों भाइयों के खिलाफ मुंबई, उल्हासनगर, ठाणे और पुणे शहर में अन्य निवेशकों ने शिकायत दर्ज कराई है।