raj-thackeray
Pic: ANI

    नई दिल्ली/पुणे. आज महाराष्ट्र के पुणे में महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (MNS) चीफ राज ठाकरे ने एक बड़ी रैली को संबोधित किया है। बता दें कि,औरंगाबाद के बाद ये उनकी दूसरी रैली है। 

    बताया अयोध्या दौरा रद्द होने का कारण 

    आज अपनी इस रैली में राज ठाकरे ने आखिरकार यह बताया कि क्यों उनका अयोध्या दौरा रद्द किया गया। इस पर उन्होंनेकहा कि, “अगर मैं अयोध्या जाता तो मेरे खिलाफ कई केस दर्ज किए जाते। मैं रामलला के दर्शन करना चाहता था, लेकिन मेरी तबीयत ठीक नहीं होने के चलते ऐसा नहीं हो पाया।” 

    उन्होंने यह भी कहा कि, ” कुछ समय से मेरी तबीयत कुछ ठीक नहीं है। मेरी कमर में कुछ तकलीफ हो रही है। मैं मुंबई गया और इसकी जांच करवाई, डॉक्टरों ने सलाह दी है कि मैं कुछ समय लंबी यात्रा ना करूं। लेकिन कई पत्रकार अपने मन से कयास लगाए जा रहे हैं, कि मामला कुछ और ही है।” 

    उन्होंने यह भी कहा कि, “अयोध्या दौरा कुछ समय के लिए ही स्थगित किया गया है। इस फैसले से कुछ लोगों को दुख हुआ और तो वहीं कुछ लोग बहुत ज्यादा ही खुश हो गए। लेकिन अब मैं महाराष्ट्र के सामने अपना पक्ष रखूंगा।”

     नवनीत राणा का भी आया जिक्र 

    वहीं नवनीत राणा की गिरफ्तारी का भी जिक्र करते हुए कहा कि, “उद्धव ठाकरे सरकार ने राणा दंपत्ति को बस सताने का ही काम किया। मातोश्री के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने में आखिर क्या दिक्कत है? क्या मातोश्री कोई मस्जिद है जो वहां हनुमान चालीसा नहीं पढ़ी जा सकती है। नवनीत राणा के साथ संजय राउत की फोटो सिर्फ एक एक दिखावटी ढ़ोंग है।”

    शिवसेना पर तंज, उत्तर भारतीयों पर सफाई 

    वहीं शिवसेना पर तंज कसते हुए राज ठाकरे ने कहा कि, क्या अब शिवसेना ये भी तय करेगी कि असली और नकली हिंदुत्व क्या है। वहीं उत्तर भारतीयों के अपमान के आरोप पर उनका कहना थाकि, हमारा आंदोलन इसलिए था कि उन लोगों को अपने राज्य में ही नौकरी मिले। तो इसपर अब हमसे माफी मांगने की बात ही क्यों कही जा रही है। हमने तो पाकिस्तानी कलाकारों को भी मुंबई से बाहर निकालने का काम किया। शिवसेना ने ऐसा कौन सा आंदोलन किया?