police commissioner Amitabh Gupta

    पुणे : तमाम चेतावनी, प्रयासों के बावजूद पुणे (Pune) में अवैध धंधों की रोकथाम नहीं हो पा रही है। शहर में चोरी छिपे ऐसे धंधे शुरू हैं। इसे गंभीरता से लेते हुए पुणे पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता (Pune Police Commissioner Amitabh Gupta) ने जिन थानों की सीमा में अवैध धंधे शुरू पाए गए उन थानों के प्रभारियों पर कार्रवाई की गाज गिरानी शुरू कर दी है। सोमवार की देर रात शहर के सबसे बड़े और महत्वपूर्ण हडपसर थाने (Hadapsar Police Station) के वरिष्ठ निरीक्षक बालकृष्ण कदम का नियंत्रण कक्ष में तबादला कर दिया गया। वरिष्ठ निरीक्षक अरविंद गोकुले को यहां तबादला (Transfer) कर दिया गया है।

    पुणे पुलिस कमिश्नर ने संबंधित वरिष्ठ पुलिस निरीक्षकों को थानों की सीमा के भीतर कोई भी अवैध गतिविधि पाए जाने पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। इसके अलावा यदि पुलिसकर्मी रिश्वत लेते हुए पाए जाते हैं, तो केवल वरिष्ठों को ही जिम्मेदार ठहराया जाएगा। शहर के थानों की सीमाओं के भीतर अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए समय-समय पर थाना प्रमुखों को निर्देश जारी किए गए हैं। 

    हलफनामा भी लिखाया गया 

    इसके साथ ही उनसे एक हलफनामा भी लिखाया गया है जिसमें कहा गया है कि उनके क्षेत्र में कोई भी अवैध व्यापार नहीं हो रहा है। इसके बावजूद कुछ थानों में आए दिन अवैध गतिविधियां देखने को मिलीं। इसी को लेकर पुलिस कमिश्नर ने एक बार फिर थानों के सभी पुलिस प्रमुखों की पेंच कसने का काम किया है। कुछ वरिष्ठ निरीक्षकों को कुछ दिन पहले अपने क्षेत्र में अवैध धंधे के कारण कार्रवाई करते हुए सजा भी दी गई है। हालांकि पुलिस कमिश्नर ने सोमवार को एक बार फिर सभी थानों को अवैध कारोबारों के प्रति सतर्क रहने का निर्देश दिया। कमिश्नर ने संबंधित वरिष्ठ निरीक्षकों को थाने में कोई भी अवैध गतिविधि देखने पर कार्रवाई करने को कहा है। साथ ही यदि किसी पुलिस अधिकारी या थाने में तैनात अधिकारी के खिलाफ रिश्वत लेने के लिए कोई कार्रवाई की जाती है, तो उसे वरिष्ठ निरीक्षक द्वारा जवाबदेह ठहराया जाएगा, यह चेतावनी भी पुलिस कमिश्नर ने दी है।