Hemant Rasne

  • आपत्तियों और सुझावों की प्रक्रिया करने मिली मंजूरी
  • स्थायी समिति अध्यक्ष हेमंत रासने की जानकारी

पुणे. पुणे शहर (Pune City) के विकास (Development) को गति देने के लिए धारा 210 के तहत 6 मीटर और 9 मीटर की सड़कों (Roads) को चौड़ा किया जाएगा। 

स्थायी समिति (Standing Committee) के अध्यक्ष हेमंत रासने (Hemant Rasne) ने कहा कि पुणे महानगरपालिका कमिश्नर (Pune Municipal commissioner) ने आपत्तियों और सुझावों की प्रक्रिया के लिए मंजूरी दे दी है। इससे अब इस प्रक्रिया में तेजी आएगी।

छोटी और बड़ी सड़कों का समावेश 

इस बारे में स्थायी समिति के अध्यक्ष हेमंत रासने ने कहा कि शहर के कई स्थानों पर कम चौड़ाई वाली सड़कों पर टीडीआर का उपयोग नहीं किया जा सकता है, जिससे यहां निर्माण कार्य की समस्या पैदा हो गई है। इसके अलावा, इमारतों के पुनर्विकास का प्रश्न लंबित था क्योंकि शहर के पेठा और मध्य क्षेत्रों में सड़कें कम चौड़ी हैं। शहर के पुराने हिस्से में संकरी सड़कों के कारण ट्रैफिक जाम एक आम घटना है।  इसी तरह पुराने सड़क के किनारे की प्रॉपर्टियों के विकास में टीडीआर का उपयोग नहीं किया जा सकता था। रासने के अनुसार, इन 2 चीजों के के साथ ही शहर के 6 मी के  323 सड़कों की चौड़ाई 9 मीटर करने अब आपत्तियां और सुझाव की प्रक्रिया को मंजूरी मिली है। महानगरपालिका कमिश्नर की अनुमति से इसका रास्ता साफ हो गया है। स्थायी समिति ने 323 सड़कों सहित शहर की सभी छोटी सड़कों के चौड़ीकरण को मंजूरी दी थी। 

भूमि अधिग्रहण में आ रही थी मुश्किलें 

रासने के अनुसार,  2017 में तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विकास योजना को मंजूरी देते हुए फैसला किया था कि टीडीआर का उपयोग 6 मीटर सड़क के किनारे की संपत्तियों पर नहीं किया जा सकता है।  इसलिए पुराने शहर के साथ-साथ शामिल गांवों में पुरानी इमारतों को विकसित करना मुश्किल था।  इसी तरह विकास योजना को लागू करते समय भूमि अधिग्रहण के बदले में टीडीआर के उपयोग की सीमाएं हैं. टीडीआर दर गिरने के कारण भूमि अधिग्रहण में भी मुश्किलें आ रही हैं। इस पृष्ठभूमि के चलते शहर में 6 मीटर चौड़ी सड़कों को 9 मीटर चौड़ा करने का प्रस्ताव रासने द्वारा स्थायी समिति के सामने रखा गया था। 

पुणे शहर के नियोजित विकास के लिए धारा 210 के तहत 6 मीटर और 9 मीटर सड़कों को चौड़ा करने का निर्णय लिया गया है। राज्य सरकार ने संशोधित निर्माण नियमों में भी इस पर सहमति व्यक्त की है। इस फैसले से शहर में स्थिर विकास और निर्माण परियोजनाओं को बढ़ावा मिलेगा। यह पेठ में पुराने वाड़े की समस्या से छुटकारा पाने में मदद करेगा। यह निर्णय शहर के समग्र विकास के लिए लिया गया है।

- हेमंत रासने, अध्यक्ष, स्थायी समिति