arrest
File Photo

    नागपुर. वाड़ी थानांतर्गत वड़धामना चौक पर स्थित एटीएम में डाका डाल रहे युवक गश्त कर रहे पुलिस दल को देखकर भाग निकले. तुरंत कंट्रोल रूम ने सभी गश्त दलों को अलर्ट किया. एमआईडीसी पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में आरोपियों का पीछा शुरू किया. निर्माणाधीन सड़क पर आरोपियों का वाहन क्षतिग्रस्त हो गया. पुलिस ने मौके पर 1 आरोपी को धरदबोचा, जबकि उसके 2 साथी भागने में कामयाब हो गए. बाद में वाड़ी पुलिस ने 1 और आरोपी को गिरफ्तार किया. पकड़े गए आरोपियों में वड़धामना निवासी इरफान वकीलखान पठान (21) और बजरंग लेआउट, हसनबाग निवासी जमीलुद्दिन नूरुद्दिन शेख (26) का समावेश है. उनके फरार साथी की तलाश जारी है. वाड़ी थाने के बीट मार्शल दिलीप आड़े और श्रीकांत कनोजिया शुक्रवार रात 2.30 बजे के दौरान परिसर में गश्त कर रहे थे. वड़धामना चौक के इंडिकैश कंपनी के एटीएम से कुछ लोग बाहर निकलकर कार में बैठकर भागते दिखाई दिए. दोनों ने जांच की तो एटीएम टूटी हुई थी.

    निर्माणाधीन रास्ते पर फंसी गाड़ी 

    दिलीप और श्रीकांत ने आरोपियों का पीछा किया लेकिन वे कार क्र. एमएच-31/सीएम-5643 पर भाग निकले. तुरंत कंट्रोल रूम को जानकारी दी गई. कंट्रोल रूम ने सभी पुलिस थानों के गश्त वाहनों को अलर्ट रहने को कहा और गाड़ी का नंबर भी बताया. सबसे करीब एमआईडीसी पुलिस स्टेशन था. इसीलिए एमआईडीसी पुलिस सक्रिय हो गई. वासुदेवनगर में एमआईडीसी पुलिस द्वारा नाकाबंदी की गई. आरोपी कार से बैरिकेड उड़ाकर वहां से भाग निकले. इसके बाद एमआईडीसी थाने के तीनों गश्ती दल आरोपियों के पीछे लग गए. आरोपी इतनी तेज गाड़ी भगा रहे थे कि जो सामने आता उसे उड़ा देते लेकिन कुछ दूरी पर ही रास्ते का निर्माण कार्य चल रहा था. आरोपी डायवर्सन देख नहीं पाए और निर्माणाधीन रास्ते में गाड़ी ले गए. उनका वाहन मिट्टी के मलबे में चढ़ गया. तीनों आरोपी उतरकर भागने लगे लेकिन एमआईडीसी पुलिस ने इरफान को दबोच लिया. 

    टिकास और छेनी से तोड़ रहे थे मशीन

    तुरंत कंट्रोल रूम को 1 आरोपी के पकड़े जाने की जानकारी दी गई और उसे वाड़ी पुलिस के हवाले किया गया. जांच में इरफान ने अपने साथियों का नाम बताया. पुलिस ने जमील को भी गिरफ्तार कर लिया. 1 आरोपी फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. पुलिस ने एटीएम से टिकास, छेनी, हथौड़ी और आरोपियों से बड़ा चाकू बरामद किया है. डीसीपी नुरुल हसन और एसीपी परशुराम कार्यकर्ते के मार्गदर्शन में इंस्पेक्टर पी.बी. सूर्यवंशी, सब इंस्पेक्टर साजिद अहमद, ठाकुर, गणेश मुंडे, कांस्टेबल राम, विवेक, दिलीप आड़े, श्रीकांत कनोजिया, सुनील मस्के, प्रदीप ढोके, सतीश येसनकर, ईश्वर राठोड़, हेमराज बेरार, प्रमोद सोनोने और सुनील नट ने कार्रवाई को अंजाम दिया.