uddhav
File Pic

    नई दिल्ली/मुंबई. जहाँ एक तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीते कई दिनों से चल रहा सियासी दंगल अब ख़त्म हो चूका है। वहीं दूसरी तरफ शिवसेना (Shivsena) आज भी केंद्र सरकार पर लामबंद है। इसी क्रम में आज  शिवसेना ने अपने मुख पत्र सामना (Samana) में संपादकीय लेख के माध्यम से घरेलू गैस सिलेंडर के बढ़े दामों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है। 

    सामना में लिखे इस संपादकीय लेख में कहा गया कि, केंद्र की मोदी सरकार फिलहाल विभिन्न राज्यों में विरोधियों की सरकार को अस्थिर करने में लगी हुई है। लेकिन उसे आम जनता की बिल्कुल भी चिंता नहीं है। 

    इतना ही नहीं इस लेख में कहा गया है कि आज आम जनता,महंगाई की चौतरफा मार खा रही है और इन सब के ऊपर GST का अलग से बोझ है। वहीं सामना ने केंद्र के साथ राज्य के नए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की वैट टैक्स कम करने की बात को भी इस संपादकीय लेख में झूठा बताया गया है।

    वहीं सामना में लिखा गया कि केंद्र सरकार केवल खाद्य तेल, कच्चा तेल, पाम तेल सस्ता करने का ढोल बजारही है। लेकिन खाद्य तेल के अंतर्गत उत्पादन वृद्धि की ओर उदासीनता बरते जाने के कारण ही आज देश को आयात पर निर्भर रहना पड़ रहा है। इसी का परिणाम है बीच में खाद्य तेलों की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि भी देखने को मिली थी। 

    इसके साथ ही इस लेख में केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा गया कि, फिलहाल देश की मोदी सरकार ‘आत्ममुग्धता’ में मशगूल हैं। ऐसे में यह ‘आत्ममुग्ध’ सरकार और ‘चिंतामग्न’ जनता ऐसी हमारे देश की वर्तमान अवस्था है जो कि काफी विकट है! यह कब और कैसे बदलेगा, यही तो आज लाखों रूपए का प्रश्न है।