Thane Municipal Corporation

    ठाणे. ठाणे महानगरपालिका (Thane Municipal Corporation) ने साल 2016 में सभी धर्मों के लिए एकीकृत श्मशानभूमि (Cremation Ground) का प्रस्ताव रखा था। हालांकि, श्मशानभूमि का काम अभी शुरू नहीं हुआ है।  इसका खुलासा महानगरपालिका (Municipal Corporation) की महासभा (General Assembly) में हुआ  इसलिए संबंधित ठेकेदार को भले ही जमीन का टीडीआर मिल गया हो, लेकिन सदन में यह बात साफ हो गई है कि निर्माण टीडीआर नहीं मिलने से इस श्मशान घाट का काम शुरू नहीं हुआ है। 

    महापौर नरेश म्हस्के (Mayor Naresh Mhaske) ने इस पर नाराजगी जताते हुए सदन में स्पष्ट आदेश दिया कि यदि संबंधित ठेकेदार 15 दिन के भीतर श्मशान घाट का काम शुरू नहीं करते हैं, तो फिर से टेंडर जारी कर इसे शुरू करें। उल्लेखनीय है कि साल 2016 में ठाणे महानगरपालिका ने शहर में सभी धर्मों के लिए एक एकीकृत श्मशानभूमि का प्रस्ताव रखा था।  शुरूआत में श्मशानभूमि के स्थान को लेकर विवाद हुआ था।  अब इसे ओवाला में बनाने का फैसला किया गया था।  इसके लिए शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने पहल की थी। 

    इस संबंध में नगरसेविका अर्चना मणेरा ने पूछा कि अभी तक यह काम क्यों शुरू नहीं किया गया।  इसके बाद महापौर नरेश म्हस्के ने इस संदर्भ में महानगरपालिका प्रशासन से जवाब मांगा।  इसका जवाब देते हुए प्रशासन ने यह भी स्वीकार किया कि श्मशान घाट पर काम शुरू नहीं हुआ है।  साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि कंस्ट्रक्शन टीडीआर न मिलने से काम को शुरू नहीं किया गया।  इस खुलासे के बाद महापौर ने नाराजगी जताते हुए आदेश दिया कि यदि अगले 15 दिनों में श्मशानभूमि का काम शुरू नहीं किया गया तो, ठाणे महानगरपालिका नया टेंडर जारी करे।