अलग-अलग घटना में 3 की मौत, दृगवाड़ा में करंट से युवक की मृत्यु

    वर्धा. तीन अलग-अलग घटनाओं में तीन लोगों की मौत हुई़ दृगवाड़ा में युवा किसान की करंट लगने से मौत हुई़ पवनार में बुजुर्ग का शव कुएं में बरामद होने से खलबली मच गई़  वहीं साहूर में किसान ने जहर गटककर अपनी जीवनलीला खत्म कर ली़ दृगवाड़ा निवासी प्रकाश किसन ताथोडे (35) की बिजली डीपी में करंट से मौत हुई.

    उक्त घटना शनिवार की दोपहर प्रकाश में आयी़ मृतक व अपनी पत्नी व सहयोगी के साथ गांव परिसर के खेत में काम कर रहे थे़  भानुदास ठाकरे के खेत स्थित महावितरण की डीपी को अचानक प्रकाश का स्पर्श हुआ़ उसके चीखने की आवाज सुनकर पड़ोस में काम कर रहे नरेश ठाकरे व अन्य मजदूर घटनास्थल पर पहुंचे़ जहां प्रकाश निचे गिरा दिखाई दिया.

    उसे शीघ्र आर्वी के ग्रामीण अस्पताल में लाया गया, जहां से सेवाग्राम के अस्पताल में लाया गया़  जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया़  डीपी की हालत अत्यंत दयनिय बनी हुई है़ इस कारण यह हादसा घटने की चर्चा है़ प्रकाश की मृत्यु से परिवार पर दु:खों का पहाड़ टूट पड़ा है. 

    पवनार मार्ग पर कुएं में मिला शव

    पवनार निवासी गोविंद गणपत वंदिले (90) का शव वरूड-पवनार मार्ग पर हिवरे के खेत स्थत कुएं में बरामद हुआ़  उसने कुएं में कूदकर आत्महत्या करने की जानकारी है़  मृतक गोविंद वंदिले यह मध्यरात्रि अचानक घर से निकल गए़  शंकर वंदिले को पिताजी कहीं दिखाई न देने से उसने तलाश शुरू कर दी़ ग्रामीणों को पता चलते ही वे भी गोविंद वांदिले की तलाश में निकल पड़े. सुबह उनका शव सुमित्रा शंकर हिवरे के खेत स्थित कुएं में पाया गया़ सूचना मिलते ही सेवाग्राम पुलिस घटनास्थल पर पहुंची़ पंचनामा कर शव बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया़ प्रकरण में आगे की जांच पीएसआई जयप्रकाश निर्मल, कर्मचारी अभय इंगले कर रहे है. 

    साहूर में किसान ने गटका जहर

    साहूर निवासी भूमिहीन किसान व खेतिहर मजदूर रामराव उदेभान नेहारे (55) ने जहर गटककर आत्महत्या कर ली़  उक्त मामला रविवार की दोपहर 3 बजे सामने आया. मृतक यह बटई से खेती करता था़ दूसरों के खेत में काम भी करता था़  खेत में जाने की बात कहकर सुबह घर से निकल गया़ दोपहर 3 बजे उसने बोरखेड़ी परिसर में जहर गटक लिया़ यह बात पता चलते ही परिजन घटनास्थल पर पहुंचे़ तब तक काफी देर हो चुकी थी़ भतीजे संदीप की सूचना पर आष्टी पुलिस मौके पर पहुंची़  अमित जुवारे, रामदास रंघवे, नीलेश वंजारी, संजय बोकडे ने घटनापंचनामा कर शव पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में भेज दिया़ आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया़  प्रकरण में आगे की जांच थानेदार लक्ष्मण लोकरे के मार्गदर्शन में चल रही है.