कार नदी में बाढ़, फसलें बही, घरों में घुसा पानी, भारी नुकसान

    आष्टी शहीद. तहसील में गत सप्ताहभर से जारी मूसलाधार बारिश व अतिवृष्टि के कारण तारासावंगा से बहने वाली कार नदी में बाढ़ आ गई, जिससे गांव में बाढ़ आने से खेती फसलें तबाह हो गई. साथ ही घरों में भी बाढ़ का पानी घुसने से भारी नुकसान की जानकारी है. तारासावंगा परिसर में हुई अतिवृष्टि से कार नदी में रात के समय बाढ़ आ गई.

    बाढ़ से नदी तट के दूकान व घरों में पानी घुस गया. दूकान मालिकों ने पहले ही सामग्री बाहर निकालकर सुरक्षित जगह पर रखी थी, जिससे कुछ नुकसान टल गया. परंतु घरों में बाढ़ का पानी घुसने से काफी नुकसान हुआ. रात में अचानक आयी बाढ़ से खेती फसलों के संरक्षण हेतु रात में रखवाली के लिए गए अनेक किसान बाढ़ में फंस गए. पश्चात लोगों की मदद से उन्हें बाहर निकाला गया. बाढ़ का पानी खेती फसलों में भी घुसने ने कपास, सोयाबीन, तुअर व अन्य फसलों का बड़े प्रमाण में नुकसान हुआ. 

    प्रभावितों ने शासन से लगाई मदद की गुहार 

    खेतीपूरक सामग्री भी बाढ़ में बहने से किसानों का काफी नुकसान हुआ है. कार नदी की बाढ़ से नागझिली के तौर पर प्रसिद्ध नाले में भी बाढ़ आयी. इससे परिसर के चिचकुंभ, पेठ, वाडेगांव खेती परिसर में जानेवाले मार्ग में ही बाढ़ का पानी जमा होने से आवागमन करने में परेशानी हुई. बाढ़ के कारण तारासावंगा खेत परिसर में पेठ वाडेगांव, चिचकुंभ स्थित किसानों का काफी नुकसान हुआ. राजस्व विभाग ने पंचनामा कर नुकसानग्रस्तों को शासकीय मदद देने की मांग शासन से की जा रही है.