मोबाइल पर आनलाइन प्रक्रिया पड़ी महंगी; टेंडर के नाम पर 7.70 लाख की ठगी

    वर्धा. मोबाइल पर आनलाइन टेंडर देखना शहर के व्यवसायी को काफी महंगा साबित हुआ. टेंडर देने के साथ रिटर्न मिलने का झांसा देकर व्यवसायी से 7 लाख 70 हजार की ठगी की गई. इस प्रकरण में महादेवपुरा निवासी शहजाद हुसैन अली (35) की शिकायत पर शहर पुलिस ने गेहरोली विहार, साउथ दिल्ली के पवन कुमार व राजेश कुमार संगम के खिलाफ धोखाधड़ी व आयटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया. जानकारी के अनुसार शहजाद हुसैन अली का स्टील रेलींग विंडो का काम है.

    सितंबर 2021 के पहले सप्ताह में सुबह मोबाइल पर आनलाइन टेंडर वेबसाइट उन्होंने देखी. वेबसाइट ओपन करने के बाद डीटेल आ गया, जिससे वेबसाइट में दिये मोबाइल नंबर पर उन्होंने संपर्क करके आनलाइन टेंडर प्रोवाइड करने से संबंधित चर्चा की. इससे सामने से अमरावती, अकोला व वर्धा के टेंडर के बारे में बताया गया. परंतु ज्वाइन करने के लिए 3,500 रुपए जमा करने को कहा, जिसके लिए पेटीएम नंबर दिया गया. पेटीएम नंबर 9517039891 पर उन्होंने राशि ट्रान्सपर कर दी. परंतु फिर अगले दिन टेंडर के लिए 15 हजार रुपए मांगे गए, जो की रिटर्न करने की बात कही गई, जिसके लिए अकाऊंट नंबर दिया गया. जो ड्रीम सर्वस के नाम से था.

    न टेंडर मिला, न ही रिटर्न

    895892067 एचडीएफसी कोड नंबर सीबीआईएन 0280849 दिया गया, जिस पर पैसे ट्रान्सफर किए. टेंडर की बात कहने पर डेढ़ लाख रुपए का पीडीएस लगेगा, यह भी रिटर्न होने की बात कही, जिससे यह पैसे भी भरे. इसके बाद लगातार पैसों की मांग होती गई. परंतु रिटर्न नहीं मिला. इसी तरह व्यवसायी ने 7 लाख 70 हजार रुपए की राशि भरी, परंतु उन्हे टेंडर नहीं मिला और ना ही रिटर्न. इससे धोखाधड़ी होने की बात ध्यान में आते ही थाने में शिकायत दर्ज की. पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया.