बदनामी से भयभीत नवविवाहिता की आत्महत्या, मामले में 4 के खिलाफ अपराध दर्ज

    • आरोपी अब भी पुलिस गिरफ्त से बाहर

    आसेगांव. फोन पर बात करने की बात कहते हुए नवविवाहिता का विवाह टूटने की कगार पर पहुंचा. इतना ही नहीं विवाहित के मायके में विवाहिता की बदनामी हो गई. इस बात से भयभीत होकर 19 वर्षीय नवविवाहिता ने मायके में फांसी लगाकर आत्महत्या करने की घटना दो दिनों पूर्व आसेगांव थाना सीमा क्षेत्र के ग्राम भीलडोंगर में घटी.

    इस आत्महत्या मामले में पूर्व में आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया गया था. किंतु उक्त आत्महत्या बदनामी से भयभीत होकर तथा आरोपियों द्वारा आत्महत्या के लिए उकसाये जाने के कारण किए जाने का आरोप लगाते हुए मृतक की मां द्वारा थाने में शिकायत दर्ज कराई गई. जिस के अनुसार 4 आरोपियों के खिलाफ आसेगांव पुलिस थाने में अपराध दर्ज किया गया है. किंतु चारो भी आरोपी अब तक पुलिस हिरासत से बाहर रहने की जानकारी है. 

    इस संदर्भ में पुलिस सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार मृतक महिला की मां शिकायतकर्ता सुनीता राठौड़ (45) निवासी भीलडोंगर ने शिकायत दर्ज कराई की उनकी पुत्री शिल्पा राठौड़ का विवाह कुछ समय पूर्व पुसद तहसील के ग्राम कारला निवासी सचिन राठौड़ के साथ रीतिरिवाज के साथ हुआ था. किंतु भीलडोंगर निवासी आरोपी भारत राठौड़ ने मृतक महिला के पति को फोन लगाकर बाते की जिस कारण उक्त युवक ने उसे अपनाने से इनकार कर दिया व विवाह के 13वें दिन ही विवाहित महिला अपने मायके ग्राम भीलडोंगर में वापस आकर रहने लगी. आरोपी नवविवाहिता के साथ विवाह करेंगा. ऐसी बात कहकर फोन के माध्यम से बातचीत करता था.

    मृतक के भाई को आरोपी ने कहा कि मेरे पास उसकी फोन रिकार्डिंग है. ऐसा कहकर आरोपी क्रमांक 2 ने मृतक महिला की गांव में बदनामी की. इस तरह की बात मृतक महिला ने अपने मां को रोते हुए बताई. जिस के बाद आरोपी को मृतक द्वारा पानी भरने जाते समय समझाया. किंतु आरोपी द्वारा मैं तुमसे विवाह नहीं करूंगा जो करना है कर लो मेरी वजह से तू मर भी जाए तो चलेंगा.

    ऐसा आरोपी द्वारा कहा गया. इस तरह की प्रताड़ना तथा बदनामी से भयभीत होकर मृतक 19 वर्षीय शिल्पा राठौड़ ने गले में फांसी का फंदा डालकर रहते घर में आत्महत्या कर ली. इस तरह की शिकायत अनुसार थाने में आरोपी भारत राठौड़ समेत अन्य तीन के खिलाफ थाने में आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा 306 34 के तहत अपराध दर्ज किया गया है. किंतु मामले में लिप्त चारो भी आरोपी अब भी पुलिस गिरफ्त से से दूर है.

    विवाहिता आत्महत्या मामले की जांच जारी

    पूर्व में इस मामले में शिकायत के अनुसार आकस्मिक मौत का मामला दर्ज किया गया था. उसी दिन रात्रि के दौरान मृतक की मां द्वारा दी गई शिकायत के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया है. जिस की जांच जारी है. बहुत जल्द आरोपियों को गिरफ्तार किए जाने की प्रक्रिया को अंजाम दिया जाएगा. – रवि खंदारे पीएसआई तथा मामले के जांच अधिकारी, आसेगांव पुलिस थाना.