भारत जोड़ो यात्रा: मोदी सरकार ने नोटबंदी व जीएसटी लगाकर रोजगार की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी: राहुल गांधी

    वाशिम. मोदी सरकार ने नोटबंदी व जीएसटी लगाकर रोजगार की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी है. यह प्रतिपादन सांसद राहुल गांधी ने किया है. वह भारत जोड़ो यात्रा के दौरान वाशिम में आने पर स्थानीय डा. बाबासाहब आंबेडकर के पुतले के सामने आयोजित एक कॉर्नर सभा को संबोधित कर रहे थे. उस समय वह बोल रहे थे. 

    सांसद राहुल गांधी ने कहा कि, भारत जोड़ो यात्रा कन्याकुमारी से कश्मीर तक की यात्रा है़  मंगलवार को 65 दिन हो गए है. हम पैदल चल रहे है़  25 किलोमीटर हम चलते है. दिन भर लोगों से बातचीत होती है़  किसान, मजदूर व छोटे दूकानदारों से बातचीत होती है़  यात्रा का लक्ष्य बीजेपी व आरएसएस के लोगो ने हिंदूस्थान में नफरत, हिंसा का डर फैला रखा है़  इसके खिलाफ आवाज उठाना है़  सड़कों पर मुझे हजारों युवा मिले है, उन सबसे पूछता हूं, तो जबाब मिलता है विद्यापीठ में पढ़ रहे है, इंजीनियरिंग कर रहे है़.

    कोई कहता अन्य शिक्षा ले रहे है़  हर कोई कोई ना कोई सपना देखता है़  इस सपने को पूरा करने के लिए रोजगार की जरूरत होती है. लेकिन रोजगार नहीं मिलता उनको मजबूरन मजदूरी या फिर गाड़ी चलाना पड़ता है़  आज यह देश की सच्चाई है़  क्योंकि मोदी सरकार ने नोटबंदी करके गलत जीएसटी लगाकर रोजगार देने की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी है. 

    उन्होंने कहा कि रोजगार देने के लिए महत्वपूर्ण रहनेवाले स्माल स्केल इंडस्ट्रीज, किसान, व्यापारी रोजगार देते है़  गलत जीएसटी लगाकर छोटे दूकानदारों को मारने के यह दो हथियार है़  इनको खत्म करने के लिए यह हथियार है़  मोदीजी ने कहा था काला धन मिटायेंगे लेकिन नहीं हुआ, लाखो बेरोजगार हुए है़  मोदीजी ने यह क्यो कहा कि, इस का लाभ केवल अपने 2-3 मित्रों को देना चाहते है़  अनेक बिजनेस इन लोगो के हवाले कर दिया. शाला व कालेज का निजीकरण कर दिया़ अस्पताल को निजीकरण कर दिया़  सभी 2-3 लोगो को फायदा दे रहे है़  

    किसानों का कर्जा कभी माफ नहीं हो सकता़  करोड़पतियों का कर्जा माफ हो जाएगा़  मगर किसानों का कर्जा माफ नहीं हो सकता है़  अरबपति बैंक से कर्जा लेता है वापस नहीं देता तो नानपरफार्मिंग है़  लेकिन किसान 50,000, एक लाख का लोन लेता है तो उसे डिफाल्डर करके उसका घर ले जाते है़  यह क्यो हो रहा है़  खेती में उगाने फसल को सही भाव नहीं मिलता़  यात्रा का लक्ष्य यह है कि इसके खिलाफ खड़ा होना चाहिए़  यूपीए सरकार के समय गैस सिलेंडर का भाव 400 रुपये था़  पेट्रोल 60 रुपये था़  उस समय मोदी कहते थे कि शर्म आनी चाहिए लेकिन अभी नरेंद्र मोदी इस बारे में बात नहीं करते़  मोदीजी के भाषण में रोजगार महंगाई शब्द नहीं सुनाई देता़ सामान्य लोग घिसे जा रहे है. इसलिए यह यात्रा शुरू की है.

    यह तिरंगा श्रीनगर तक जाएगा, कोई रोक नहीं सकेंगे़  देश को बाटा जाता है, देश में नफरत फैलायी जाती है. हिंसा फिलायी जाती तो देश का नुकसान होता है. ये लोग कौनसे देशभक्त है, ऐसा सवाल भी उन्होंने उठाया. यह देश अहिंसा का देश है़  भाईचारा का देश है़ इसे कोई तोड़ नहीं सकता़  कार्नर सभा में भारी भीड़ के कारण सभी लोग राहुल गांधी को देखने उमड़ पड़े थे़.