जिले में 1 लाख हेक्टेयर पर चने की योजना

    • किसानों को मिलेगा सब्सिडी वाला बीज; मंडी में नौ हजार क्विंटल बीज

    यवतमाल. भारी बारिश से किसान पहले से ही मुश्किल में हैं. रबी सीजन पर किसानों की उम्मीदें टिकी हैं. किसानों के समर्थन के लिए महाबीज की नई किस्में बाजार में आई हैं. सब्सिडी पर किसानों को प्रति ग्राम बीज मात्र 1,220 रुपये में मिलेगा. महाबीज का दावा है कि नई किस्म से किसानों को अपना रकबा बढ़ाने में मदद मिलेगी.

    हालांकि लगातार भारी बारिश के कारण खरीफ सीजन बीत चुका है, लेकिन इस साल रबी की बुआई के रकबे में जल संग्रहण बढ़ने की संभावना है. महाबीज ने खरीफ के दौरान मुश्किलों का सामना कर रहे किसानों को राहत देने की पहल की. किसानों के लिए चना की चार नई किस्में पेश की गई हैं.

    महाबीज का दावा है कि यह किस्म जिले के किसानों को प्रति एकड़ चने की फसल की उत्पादकता बढ़ाने में मदद करेगी. सब्सिडी पर किसानों को नई किस्मों के प्रमाणित बीज मिलेंगे. नई किस्मों के बीजों की कीमत 8 हजार 600 रुपये प्रति क्विंटल है. किसानों को यह 20 किलो बीज बैग मात्र 1,220 रुपये में मिलेगा.

    इससे किसानों को काफी राहत मिलेगी. बीज सब्सिडी पांच एकड़ तक सीमित है. वर्तमान में 9 हजार 677 क्विंटल महाबीज व कृभको बीज उपलब्ध कराया जा चुका है. पिछले साल 94,000 हेक्टेयर में चना उगाया गया था. इसके लिए 47 हजार 271 क्विंटल बीज की आवश्यकता थी.

    इस साल चना का बोया रकबा एक लाख क्विंटल तक रहने का अनुमान है. इसके लिए महाबीज के बीज उपलब्ध हैं. किसान सीधे कृषि केंद्र जाकर सब्सिडी पर बीज खरीद सकेंगे. महाबीज के जिला प्रबंधक अशोक ठाकरे ने किसानों से महाबीज के बीज सब्सिडी पर लेने की अपील की है.