हिवरी क्षेत्र में बाघ का आतंक; गाय को बनाया निवाला, अब तक 12 मवेशी मारे

    यवतमाल. यवतमाल आर्णी मार्ग पर स्थित हिवरी गांव के ईलाके में इन दिनों बाघ ने आतंक मचा रखा है.बिती रात बाघ ने एक गाय पर हमला कर उसे मार डाला. प्राप्त जानकारी के अनुसार इस ईलाके में इस बाघ का जंगल और इससे सटे हिवरी गांव के आसपास मुक्त संचार है.

    उसने एक माह के भीतर लगभग 12 मवेशीयों पर हमला कर उन्हे मार डाला. इसके बाद 10 सितंबर को जंगलों में चरने गए मवेशीयों के झुंड में शामिल गाय पर इस बाघ ने हमला कर उसे मार डाला.शाम में 5 के दौरान यह घटना हुई, श्रावण रामचंद्र करिवले निवासी हिवरी की यह गाय थी,गांव के किसानों और मवेशी पालकों को इस बाघ के कारण अब तक काफी नुकसान उठाना पडा है.

    क्षेत्र में वनसंपदा की रक्षा करने और जंगलों में जंगली जानवरों का नागरिक, मवेशीयों पर हमले न हों, इस लिहाज से हिंसक प्राणीयों से गांववासीयों की रक्षा करना वनविभाग की जिम्मेदारी है,लेकिन इस ईलाके में बाघ का संचार और उसके हमलों में मवेशी मृत होने के बावजुद वनविभाग बाघ पर नियंत्रण नही कर पाया है.जिससे इस ईलाके के खेतीहर मजदूर, किसानों और नागरिकों में बाघ को लेकर डर व्याप्त है.