बाजार में रंगोली खरीद के लिए महिलाओं की भीड़

    यवतमाल.  दीपावली के त्योहार को सजाने के लिए महिलाओं के लिए बाजार में आसमानी लालटेन और मिट्टी के विविध आकर्षक दिये और साथ ही रंगोली और उसके विभिन्न रंगों की खरीदारी शुरू हो गई है.

    शहर के येरावार चौक, स्टेट बैंक चौक, मुख्य बाजार इंदिरा गांधी मार्केट समेत शहर के विविध इलाके में रंगोली के स्टॉल लगाए गए हैं, जहां खरीदारी के लिए महिलाओं का आना-जाना लगा रहता है. इस बीच, इस साल रंगोली स्टिकर और मोल्ड अधिक लोकप्रियता प्राप्त कर रहे हैं. सिर्फ दो दिनों में दिवाली का स्वागत करने के लिए हर कोई तैयार है. दिवाली के दौरान घर के सामने रंग-बिरंगी रंगोली बनाने की प्रवृत्ति मुख्य रूप से महिलाओं में देखी जाती है.

    लक्ष्मी पूजन, पाड़वा, भाईदूज के दिन रंगोली बनाकर सभी का स्वागत किया जाता है. दिवाली की सुबह बच्चे आतिशबाजी करने में लगे हैं तो वहीं महिलाएं अपने घरों के सामने रंगोली बना रही हैं. हालांकि बढ़ते शहरीकरण के बीच घर का आंगन गायब हो गया है, लेकिन रंगोली बनाने की कला अभी भी महिलाओं ने इस कला को संजोये रखा है. रंगोली के रेडीमेड प्रिंट भी बाजार में उपलब्ध हैं. इनमें लक्ष्मी के पदचिन्हों के निशान, स्वस्तिक, गणपति, लक्ष्मी, पनती, मोर, वेलकम आदि जैसे रेडीमेड रंगोली के साचे की काफी मांग है.