vaccination
Representative Image

    मुंबई: भारत में कोरोना (Coronavirus Pandemic) की रफ्तार भले ही धीमी पड़ गई है। लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। इसलिए किसी भी तरह की लापरवाही भारी पड़ सकती है। इन अब के बीच महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुंबई (Mumbai) से बड़ी खबर सामने आ रही है। बताना चाहते हैं कि फुल वैक्सीनेशन (COVID-19 Vaccination) को लेकर बीएमसी (BMC) एक्शन मोड़ में है। रिपोर्ट के अनुसार बीएमसी ने कोरोना वैक्सीन की एक डोज लेने वालों की पहचान शुरू कर दी है।  

    ज्ञात हो कि मुंबई में फुल वैक्सीनेशन को लेकर पूरी तरह से बीएमसी एक्टिव हो गई है। शहर में वैक्सीनेशन की लिस्ट की जांच की गई तो पता चला की लगभग तीन लाख लोगों ने कोविड का पहला डोज लिया है। लेकिन दूसरा लेने नहीं आए हैं। खबर के अनुसार बीएमसी ने ऐसे लोगों को बुलाकर पूछताछ करने का फैसला किया है।  

    गौर हो कि बीएमसी ने ऐसे लोगों से पूछताछ के लिए 24 वार्ड स्तरीय वॉर रूम को इस काम की जिम्मेदारी दी हुई है। इससे पहले पिछले वर्ष वॉर रूम को कोविड संक्रमितों के अस्पताल में भर्ती किए जाने और डाटा को सुचारू करने का काम बीएमसी की तरफ से दिया गया था। जानकारी के मुताबिक वॉर रूम को अगले दो दिनो में वैक्सीनेशन की लिस्ट तैयार करने की जिम्मेदारी भी बीएमसी ने दी है। साथ ही वॉर रूम से कोरोना वैक्सीन का पहला शॉट लेने के बाद दूसरे डोज के लिए नहीं आने वालों को कॉल जाने वाला है।

    कोविन पोर्टल से तीन लाख से अधिक लोगों का पता चला है जिन्होंने पहला डोज कोरोना वैक्सीन का लिया लेकिन दूसरा लेने नहीं आए। जन स्वास्थ्य डिपार्टमेंट की मानें तो इस सूची में 3.84 लाख लोगों के नाम है।